scorecardresearch

मुर्गी चोरी, बकरी चोरी, किताब चोरी… आजम खान पर इस तरह के मुकदमे लगाने पर क्‍या बोले सीएम योगी के इकलौते मुस्लिम मंत्री दानिश, जानें

योगी सरकार में इकलौते मुस्लिम मंत्री दानिश आजाद ने आजम खान पर मुकदमों को लेकर सपा के आरोपों पर कहा कि कानून पूरी ईमानदारी से काम करता है और आज उसने साबित भी कर दिया कि कोई कितना भी रसूक वाला हो, कानून सबके लिए बराबर है।

Azam Khan|Danish Azad|Azam Khan Bail
योगी सरकार में मंत्री दानिश आजाद अंसारी (फोटो सोर्स- फेसबुक/दानिश आजाद अंसारी)

समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता आजम खान की रिहाई पर योगी के इकलौते मुस्लिम मंत्री दानिश आजद ने कहा कि कानून ने आज साबित कर दिया कि कोई कितना भी रसूक रखता हो, कानून अपनी ईमानदारी से ही काम करेगा। एक पत्रकार ने उनसे सवाल किया कि हमेशा सपा की तरफ से ऐसे आरोप लगाए जाते रहे हैं कि बीजेपी ने आजम खान पर बहुत जुल्म और ज्यादती की है। इस पर दानिश ने कहा कि कानून अपना काम कर रहा है। कानून प्रक्रिया के तहत कोई कार्रवाई हो रही है तो उस पर हमें विश्वास रखना चाहिए। कानून ने दिखा दिया कि कोई कितना रसूक रखता हो, अगर किसी ने कोई गलत काम किया है तो कानून प्रक्रिया पूरी ईमानदारी से अपना काम करेगी।

मुर्गी चोरी, बकरी चोरी, किताब चोरी जैसे मुकदमों को लेकर सपा और आजम के परिवार के सदस्यों की तरफ से आरोप लगाए गए कि बीजेपी द्वेष की भावना के साथ काम कर रही है। इस पर दानिश ने जवाब दिया कि योगी सरकार किसी द्वेष की भावना के साथ काम नहीं कर रही है। पूरे देश में उत्तर प्रदेश की सरकार विकास के लिए जानी जाती है। हम लगातार विकास के एजेंडे और आम जनमानस के लिए काम कर रहे हैं। ये उत्तर प्रदेश ही है जहां कानून व्यवस्था पूरी चाक-चौबंद है।

वहीं, ज्ञानवापी मस्जिद के मुद्दे पर बीजेपी नेता ने कहा कि सबको माननीय न्यायालय के फैसले का इंतेजार करना चाहिए। अपनी व्यक्तिगत राय से बचना चाहिए। न्यायालय सभी पक्षों की बात सुनकर और जांचकर ही फैसला देगा।

गौरतलब है कि आजम खान को करीब 27 महीने बाद जेल से रिहाई मिल गई है। गुरुवार (19 मई, 2022) को सुप्रीम कोर्ट ने 89वें मामले में उन्हें अंतरिम जमानत दे दी थी, 88 मामलों में उन्हें पहले ही जमानत दी जा चुकी थी।

अखिलेश ने भी किया ट्वीट
रिहाई पर आजम के समर्थक और परिवार के लोग काफी खुश हैं। वहीं, प्रसपा प्रमुख शिवपाल यादव ने भी उनकी रिहाई पर कल ट्वीट कर खुशी जाहिर की थी, जबकि अखिलेश यादव ने आज ट्वीट किया है। उन्होंने अपने ट्वीट में कहा, “सपा के वरिष्ठ नेता व विधायक आजम खान के जमानत पर रिहा होने पर उनका हार्दिक स्वागत है। जमानत के इस फैसले से सर्वोच्च न्यायालय ने न्याय को नए मानक दिए हैं। पूरा ऐतबार है कि वो अन्य सभी झूठे मामलों-मुकदमों में बाइज्जत बरी होंगे। झूठ के लम्हे होते हैं, सदियां नहीं!”

पढें उत्तर प्रदेश (Uttarpradesh News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट