ताज़ा खबर
 

अपनी शादी में घोड़ी पर बैठा दलित तो हुई पिटाई, ऊंची जाति के लोग बोले- यह परंपरा तुम्हारे लिए नहीं

संजय को घोड़ी से उतारा और उससे कहा कि घोड़ी पर बैठने की परंपरा दलित समुदाय में नहीं है।

इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

देश में जाति के नाम पर दशकों से भेदभाव होता आया है। ऊंची जाति के लोग अपने सामने छोटी जाति के लोगों को कुछ नहीं समझते हैं। ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के दादरी में देखने को मिला जहां पर कुछ लोगों ने एक दलित युवक की पिटाई कर दी। इस दलित युवक का कसूर सिर्फ इतना था कि वह अपनी शादी के दिन सज-धज कर घुड़चढ़ी के लिए घोड़ी पर सवार हो गया था। यह बात ऊंची जाति के लोगों को गंवारा नहीं हुई और उन्होंने दलित दूल्हे की पिटाई कर दी। पुलिस ने इस मामले में आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

एक पुलिस अधिकारी द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार मंगलवार को संजरवास गांव में दूल्हा संजय अपने परिवार के साथ यहां रहने वाली लड़की सुमन के घर बारात लेकर आया। जैसे ही बारात सुमन के घर पहुंची, राजपूत समुदाय के करीब दर्जनभर लोग वहां आ गए। उन्होंने संजय को घोड़ी से उतारा और उससे कहा कि घोड़ी पर बैठने की परंपरा दलित समुदाय में नहीं है। इस मुद्दे को लेकर दोनों पक्षों के बीच काफी बहसबाजी हुई। इसके बाद ऊंची जाति के लोगों ने दूल्हे और उसके परिवार के सदस्यों की जमकर पिटाई की। इस बीच जब दुल्हन के परिवार वालों ने बारातियों को बचाने की कोशिश की तो आरोपियों ने उनकी भी पिटाई कर दी, जिन्हें गंभीर चोंटे आईं और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया।

दुल्हन के परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने मौजूद सभी लोगों के बयान लिए और आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया। पुलिस अधिकारी ने बताया कि जब हम घटनास्थल पर पहुंचे तो सभी आरोपी वहां से फरार हो चुके थे। इस मामले की जांच के दौरान एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है और बाकी आरोपियों की तलाश की जा रही है। अधिकारी ने कहा घटना के बाद शादी की प्रक्रिया पूरी होने तक हमारी एक टीम शादी समारोह में मौजूद रही।

देखिए वीडियो - उत्तर प्रदेश के बाद उत्तराखंड में भी सार्वजनिक स्थलों पर थूकना मना; 5000 रुपए जुर्माना, हो सकती है 6 महीने जेल की सजा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App