ताज़ा खबर
 

यूपी: भतीजे को मिला चुनाव का टिकट तो सदमे से अस्पताल पहुंचे समाजवादी पार्टी विधायक

उबैद ने बताया कि उसके पिता ने रिजवान को मना किया था कि वह कांग्रेस की तरफ से मेयर पद का चुनाव न लड़े।

Author मुरादाबाद | November 6, 2017 14:31 pm
सपा विधायक इकराम कुरैशी। (Photo Source: Facebook)

उत्तर प्रदेश में जल्द ही निकाय चुनाव होने वाले हैं, जिन्हें ध्यान में रखते हुए सभी पार्टियां तैयारियों में जुट गई हैं। कांग्रेस ने मेयर पद के लिए समाजवादी पार्टी के मुरादाबाद से विधायक इकराम कुरैशी के भतीजे के नाम का ऐलान किया है। टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार शनिवार रात को इकराम कुरैशी के भतीजे 41 वर्षीय रिजवान कुरैशी को कांग्रेस ने टिकट देने का ऐलान किया था, जिसे सुनने के बाद इकराम कुरैशी की हालत खराब हो गई और उन्हें अस्पताल ले जाया गया। इस साल सूबे में हुए विधानसभा चुनावों में इकराम कुरैशी के सिर जीत का ताज दिलवाने वाले रिजवान को उनका राइट हैंड माना जाता था।

इस मामले पर बात करते हुए इकराम कुरैशी के बेटे उबैद ने कहा कि जैसे ही मेरे भाई रिजवान ने पापा को फोन कर अपने कांग्रेस के टिकट पर मेयर पद का चुनाव लड़ने की बात कही, तो पापा को सीने में दर्द की शिकायत होने लगी। इसके बाद पापा को तुरंत ही अस्पताल ले जाया गया जहां पर इलाज के बाद उनकी हालत स्थिर हुई और रविवार सुबह उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया। उबैद ने बताया कि उसके पिता ने रिजवान को मना किया था कि वह कांग्रेस की तरफ से मेयर पद का चुनाव न लड़े। टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत के दौरान कांग्रेस के राज्य जिला अध्यक्ष एपी सिंह ने कहा कि सपा विधायक कुरैशी पर अस्तित्व संबंधि संकट गहरा रहा है और यही कारण है कि उनकी तबियत खराब हुई।

कांग्रेस नेता सिंह ने कहा कि मुरादाबाद में सपा ध्रवीकरण कर मुस्लिम वोटों को अपनी तरफ खींचना चाहती है। इसके बाद सिंह ने कहा कि विधायक सपा के मुरादाबाद जिले के अध्यक्ष हैं। अगर सपा का उम्मीदवार यहां से हारता है तो इसकी जवाबदेही कुरैशी की होगी, इसलिए वे घबराए हुए हैं। बता दें कि रिजवान कांग्रेस कमेटी के सदस्य हैं और साल 2006-2012 तक वे मुरादाबाद शहर के पार्टी उपाध्यक्ष भी रहे हैं।

देखिए वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App