ताज़ा खबर
 

सहारनपुर: दलितों के गांव में फिर तनाव फैलाने की कोशिश

पुलिस से कहना था कि मंदिर में तोड़फोड़ की इस घिनौती हरकत से गांव के ही किसी दलित युवक का हाथ है।

Author सहारनपुर | May 30, 2017 7:50 AM
600 दलितों और 900 ठाकुरों की आबादी वाले गांव शब्बीरपुर से हिंसक चक्र की शुरुआत हुई थी। इन संघर्षों के दलित पीड़ितों का कहना है कि ऊंची जाति के ठाकुरों ने उन्हें गांव के रविदास मंदिर परिसर में बाबासाहिब अंबेडकर की प्रतिमा स्थापित नहीं करने दी थी।

हिंसाग्रस्त सहारनपुर में खुराफाती अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे। पहले से ही चल रहे तनावपूर्ण माहौल को गरमाने की मंशा से किसी सिरफिरे ने दलित बहुल गांव संभालका जुनारतार के रविदास मंदिर से शिवलिंग उखाड़ दिया। सुबह जब पूजा के लिए लोग मंदिर पहुंचे तो मंदिर से शिवलिंग गायब होने की जानकारी मिली। सूचना मिलने पर पुलिस अधिकारी गांव पहुंचे और उन्होंने खुराफाती को गिरफ्तार करने का भरोसा देकर लोगों का गुस्सा शांत किया।

पुलिस अधिकारियों ने मंदिर कमेटी के अध्यक्ष कृपारामऔर गांव के संभ्रांत लोगों के साथ बैठक की। मौके पर गए पुलिस उपाधीक्षक अब्दुल कादिर ने बताया कि मंदिर कमेटी ने मामले को तूल ना देते हुए अपने खर्चे पर ही मंदिर में दूसरा शिवलिंग स्थापित करा दिया। गांव में तनाव को देखते हुए पुलिस तैनात कर दी गई है। ग्रामीणों का पुलिस से कहना था कि मंदिर में तोड़फोड़ की इस घिनौती हरकत से गांव के ही किसी दलित युवक का हाथ है। अच्छी बात यह रही कि भड़कावे की इस हरकत के बावजूद ग्रामीणों ने धैर्य से काम लिया और असामाजिक तत्वों को स्थिति बिगाड़ने का मौका नहीं दिया।

 

सरेआम बछड़ा काटने के मामले में केरल कांग्रेस के तीन कार्यकर्ता निलंबित

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App