ताज़ा खबर
 

यूपी: मंत्री के विवादित बोल, राम मंदिर जरूर बनाएंगे, सुप्रीम कोर्ट हमारा है

यूपी के सहकारिता मंत्री और भाजपा विधायक मुकुट बिहारी वर्मा ने राम मंदिर के निर्माण पर बड़ा बयान दिया है। मुकुट बिहारी ने कहा कि भाजपा विकास के मुद्दे पर चुनाव जीतकर आई है। लेकिन राम मंदिर जरूर बनेगा क्योंकि ये हमारी प्रतिबद्धता है। मामला सुप्रीम कोर्ट में है और सुप्रीम कोर्ट हमारा है।

यूपी के सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा फोटो सोर्स- फेसबुक

यूपी के सहकारिता मंत्री और भाजपा विधायक मुकुट बिहारी वर्मा ने राम मंदिर के निर्माण पर बड़ा बयान दिया है। मुकुट बिहारी ने कहा कि भाजपा विकास के मुद्दे पर चुनाव जीतकर आई है। लेकिन राम मंदिर जरूर बनेगा क्योंकि ये हमारी प्रतिबद्धता है। मामला सुप्रीम कोर्ट में है और सुप्रीम कोर्ट हमारा है। समाचार एजेंसी एएनआई को दिए अपने बयान में मुकुट बिहारी वर्मा ने ये सारी बातें कहीं। मंत्री मुकुट बिहारी ने कहा,”भाजपा सत्ता में विकास के मुद्दे पर आई है लेकिन राम मंदिर जरूर बनेगा क्योंकि ये हमारा संकल्प है। मामला सुप्रीम कोर्ट में है और सुप्रीम कोर्ट हमारा है। न्यायपालिका, प्रशासन, देश के साथ ही राम मंदिर भी हमसे जुड़ा हुआ है।”

मुकुट बिहारी वर्मा, यूपी के बहराइच जिले की कैसरगंज विधानसभा सीट से विधायक हैं। वह यूपी मेें वर्तमान में सहकारिता मंत्री के पद पर हैं। एएनआई से बातचीत में मुकुट बिहारी वर्मा ने राममंदिर के बारे में अपनी और अपनी पार्टी की प्रतिबद्धताओं के बारे में बात की।  बता दें कि मुकुट बिहारी वर्मा कानपुर देहात जिले के प्रभारी मंत्री भी हैं। पिछले दिनों सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी के स्वागत की तैयारियों का एक आदेश सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था। इस आदेश में सर्किट हाउस में मंत्री के खाने और नाश्ते के लिए वेटर की जगह सहायक विकास अधिकारी स्तर के अफसरों को लगाया गया था।

सहकारिता मंत्री पांच मई को कानपुर देहात के दौरे पर थे। उनके इस दौरे के मुद्देनजर कानपुर देहात के सहायक आयुक्त सहकारिता ने मंत्री की आवभगत के लिए माती सर्किट हाउस में विभागीय अधिकारियों की लिखित आदेश जारी कर ड्यूटी लगाई थी। चार मई को ड्यूटी का आदेश जारी हुआ था। हालांकि, आदेश वायरल होने के बाद बैक डेट में उसे निरस्त कर दिया गया। इस संबंध में मीडिया से बात करते हुए सहकारिता मंत्री ने सफाई पेश की थी। मंत्री ने कहा, ”मेरे लिए तो अच्छा ही हुआ कि उस चिट्ठी के कारण मैं भी चर्चा में आ गया। यह कोई बड़ी गलती नहीं थी। इसके लिए संबंधित अधिकारी को चेतावनी दी गई है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App