ताज़ा खबर
 

अयोध्या मामले में मुकदमा तो बाबर और उसके सेनापति पर चलना चाहिए: इंद्रेश कुमार

बाबर मोहम्मद-बिन-कासिम कभी हिंदुस्तान के मुसलमानों का रिश्तेदार नहीं था। वह हमलावर था। उसने हिन्दुस्तान में मंदिरों को तोड़कर अपने नाम पर मस्जिदें बनवाई।

Author देहरादून | May 8, 2017 4:04 AM
राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की संस्था मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के राष्ट्रीय संयोजक इंद्रेश कुमार। (File Photo)

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के वरिष्ठ प्रचारक इंद्रेश कुमार का कहना है कि अयोध्या में बाबरी मस्जिद गिराने के मामले में आपराधिक साजिश का मुकदमा तो राममंदिर तोड़ कर बाबरी मस्जिद बनाने के लिए बाबर और उसके सेनापति मीर बांकी पर होना चाहिए, न कि भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती पर।
इंद्रेश कुमार रुड़की के पिरान कलियर में पत्रकारों से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा कि बाबर मोहम्मद-बिन-कासिम कभी हिंदुस्तान के मुसलमानों का रिश्तेदार नहीं था। वह हमलावर था। उसने हिन्दुस्तान में मंदिरों को तोड़कर अपने नाम पर मस्जिदें बनवाई। उसने इस काम के लिए न केवल हिन्दुओं का कत्ल किया, बल्कि भारत में दंगे भी करवाए और इन दंगों में हजारो मुसलमानों को भी अपनी जान से हाथ धोना पड़ा था।

धर्म निरपेक्षता के नाम पर राजनीति करने वाले दलों को कटघरे में खड़ा करते हुए इंदे्रश कुमार ने कहा कि बाबर के नाम पर राजनीति करने वाले दलों की वजह से ही आज भी देश में दंगे हो रहे हैं। मुसलमानों को नसीहत देते हुए उन्होंने कहा कि इन दंगों को रोकने के लिए देश के मुसलमानों को अयोध्या में राममंदिर के निर्माण के काम में सहयोग करना चाहिए। उन्होंने कहा कि अजमेर, मालेगांव और समझौता एक्सप्रेस धमाकों में उनका कोई हाथ नहीं था। कांग्रेस उन्हें साजिश के तहत इन मामलों में फंसाना चाहती थी। उन्होंने कहा कि आतंकवाद कांग्रेस की देन है। पाकिस्तान को चेतावनी देते हुए संघ प्रचारक ने कहा कि पाकिस्तान खुद अपने में सुधार करे वरना भारत एक दिन उसका वजूद ही मिटा देगा। पाकिस्तान का रवैया सुधरने के बाद ही उससे दोस्ती की जा सकती है। इसी दोस्ती में पाकिस्तान और वहां की जनता की भलाई है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App