ताज़ा खबर
 

अब मोदी सरकार से खफा हुए बीजेपी के ओबीसी सांसद- 8 बार लिखी चिट्ठी पर नहीं हुआ काम

बैरिया से चर्चित भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह ने भी राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार के खिलाफ तल्ख तेवर अख्तियार किया है। विधायक ने बैरिया तहसील में भ्रष्टाचार व्याप्त होने का आरोप लगाते हुए इसके विरोध में आगामी पांच जून को तहसील परिसर में धरना-प्रदर्शन करने की घोषणा की है।

सलेमपुर से सांसद रवीन्द्र कुशवाहा का आरोप है कि उन्होंने आठ बार अपनी सरकार के रेल मंत्री पीयूष गोयल को खत लिखा लेकिन उन्होंने एक बार भी इस पर ध्यान नहीं दिया।

उत्तर प्रदेश में बीजेपी की मुश्किलेों कम नहीं हो रही हैं। पहले कई दलित सांसदों द्वारा आवाज बुलंद करने के बाद अब ओबीसी सांसद ने अपनी ही पार्टी की केंद्र सरकार के खिलाफ धरने पर बैठने का एलान किया है। सलेमपुर से सांसद रवीन्द्र कुशवाहा का आरोप है कि उन्होंने आठ बार अपनी सरकार के रेल मंत्री पीयूष गोयल को खत लिखा लेकिन उन्होंने एक बार भी इस पर ध्यान नहीं दिया। इससे नाराज कुशवाहा ने अगले महीने संसद के मानसून सत्र में संसद परिसर में स्थित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने धरना देने की घोषणा की है।

कुशवाहा ने मीडिया से बातचीत में कहा कि जनता का दबाव है कि उनके संसदीय क्षेत्र के बिल्थरा रोड तथा सलेमपुर रेलवे स्टेशन पर अनेक ट्रेनों का ठहराव हो। उन्होंने बताया कि वह इस सिलसिले में रेल मंत्री पीयूष गोयल को आठ बार पत्र लिख चुके हैं। संसद के पिछले सत्र की समाप्ति पर गोयल द्वारा बुलाई गई बैठक में भी उन्होंने इस मसले को उठाया था, फिर भी कोई नतीजा नहीं निकला। उन्होंने कहा कि ठहराव घोषित ना होने से आम जनता में सरकार की तो किरकिरी हो ही रही है, खुद उनके प्रति भी नाराजगी बढ़ रही है। इसी को देखते हुए उन्होंने संसद के आगामी मानसून सत्र में गांधी की प्रतिमा के समक्ष धरना देने का फैसला किया है।

उधर, बैरिया से चर्चित भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह ने भी राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार के खिलाफ तल्ख तेवर अख्तियार किया है। विधायक ने बैरिया तहसील में भ्रष्टाचार व्याप्त होने का आरोप लगाते हुए इसके विरोध में आगामी पांच जून को तहसील परिसर में धरना-प्रदर्शन करने की घोषणा की है। बता दें कि उत्तर प्रदेश में लगातार दो उप चुनाव हारने के बाद पार्टी में जहां इस संकट से निबटने के लिए मंथन जारी है, वहीं पार्टी के सांसदों और विधायकों द्वारा अपनी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने से विरोधी खुश हैं। इससे पहले दलित मुद्दे पर भी राज्य के कई सांसदों ने सीधे प्रधानमंत्री नरेंदर् मोदी को खत लिखा था। इनमें से एक सांसद ने सीएम योगी आदित्यनाथ की भी शिकायत की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App