ताज़ा खबर
 

मुजफ्फरनगर दंगे: योगी आदित्य नाथ से मिले खाप नेता और बीजेपी सांसद, कहा- केस खत्म कीजिए

सांसद संजीव बालियान ने कहा कि दंगों के समय हिंदू और मुस्लिम समुदाय दोनों के ही लोगों के खिलाफ मामले दर्ज किए गए थे। बालियान ने कहा कि वे केवल उन 402 फर्जी केसों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं जो कि जाटों और अन्य पिछला वर्ग के लोगों के खिलाफ दर्ज किए गए थे।

Author मुजफ्फरनगर | Updated: February 6, 2018 8:23 AM
सांसद संजीव बालियान।

बीजेपी सांसद संजीव बालियान के नेतृत्व में मुजफ्फरनगर और शामली के खाप नेताओं के एक प्रतिनिधि-मंडल ने सोमवार को यूपी के सीएम योगी आदित्य नाथ से आग्रह किया कि वे 2013 मुजफ्फरनगर दंगों में हिंदुओं के खिलाफ दर्ज किए गए फर्जी केसों को वापस लें। बैठक के दौरान प्रतिनिधि-मंडल ने कहा ऐसी खबरें है कि केवल बीजेपी नेताओं के खिलाफ दर्ज किए गए मामलों को वापस लिया जा रहा है जिससे लोगों में काफी आक्रोश है। खाप नेताओं ने सीएम योगी से कहा कि दंगों के समय बेगुनाह लोगों पर फर्जी केस दर्ज किए गए जिन्हें वापस लेना चाहिए।

सांसद संजीव बालियान ने कहा कि दंगों के समय हिंदू और मुस्लिम समुदाय दोनों के ही लोगों के खिलाफ मामले दर्ज किए गए थे। बालियान ने कहा कि वे केवल उन 402 फर्जी केसों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं जो कि जाटों और अन्य पिछड़ा वर्ग के लोगों के खिलाफ दर्ज किए गए थे। सीएम से मिलने के बाद इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए संजीव बालियान ने कहा “इसमें कोई भी संदेह की बात नहीं है। हमने किसी मर्डर केस की बात नहीं की है। खाप नेताओं की चिंता केवल वे 402 आगजनी के फर्जी केस हैं जिसमें हिंदू शामिल हैं। इस सम्बंध में न तो पीड़ितों को कोई मुआवजा दिया गया और न ही उनके लिए कुछ किया गया इसलिए कम से कम उनपर दर्ज किए गए फर्जी केस को वापस लेना चाहिए। इस मुद्दे को लेकर हमारे छोटे से प्रतिनिधि-मंडल ने सीएम से मुलाकात की थी।”

इसके साथ ही बालियान ने यह भी बताया कि प्रतिनिधि-मंडल ने सीएम से यह मांग भी की है कि मुजफ्फरनगर और शामली में महिलाओं के खिलाफ दर्ज किए गए उन मामलों को भी वापस लिया जाए, जिनमें महिलाओं पर गिरफ्तारी के समय दखलअंदाजी करने का आरोप लगा है। संजीव बालियान के साथ खाप नेताओं में बालियान खाप के चौधरी और भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष नरेश टिकैत भी सीएम से मिलने पहुंचे थे। नरेश टिकैत ने कहा “”सांसदों और विधायकों के खिलाफ दर्ज गलत केसों को वापस लिया जा रहा है तो आम लोगों के खिलाफ दर्ज हुए फर्जी केसों को भी वापस लिया जाना चाहिए।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ताज महोत्सव में मुगल संस्कृति की जगह होगी रामलीला, वरिष्ठ पत्रकार बोले- रहीम-तुलसी को लड़ाने की है कोशिश
2 बीएसएफ जवान का वीडियो वायरल- मजबूर किया तो परिवार की खातिर उठा लूंगा हथियार