ताज़ा खबर
 

यूपी: बीजेपी विधायक ने ही खोली सरकार की पोल, कहा- थानों और तहसीलों में खुलेआम हो रहा भ्रष्‍टाचार

भाजपा के विधायक अजीत कुमार उर्फ राजू यादव ने जिले के अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाए हैं। विधायक ने मीडिया को बताया कि आम आदमी की सुनवाई नहीं की जा रही है। थाने से लेकर तहसील और अस्पताल से लेकर डीएम आॅफिस तक आम आदमी को लूटा जा रहा है।

संभल जिले के गुन्नौर से भाजपा विधायक अजीत कुमार यादव। फोटो- फेसबुक/ Ajeetkumaryadav

यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार प्रदेश में भले ही अमन-चैन आने की बात कह रही हो, लेकिन सरकार के ही एक विधायक ने सरकारी अधिकारियों और तंत्र पर सवाल खड़े किए हैं। विधायक ने जिले के डीएम से मुलाकात करके उन्हें 15 दिन में​ स्थिति सुधारने का अल्टीमेटम दिया है। विधायक ने ​अपने पत्र में लिखा है कि अगर 15 दिन में अधिकारी स्थिति नहीं सुधारते हैं तो वह धरने पर बैठ जाएंगे।

यूपी के संभल जिले के गुन्नौर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के विधायक अजीत कुमार उर्फ राजू यादव ने जिले के अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाए हैं। विधायक ने मीडिया को बताया कि आम आदमी की सुनवाई नहीं की जा रही है। थाने से लेकर तहसील और अस्पताल से लेकर डीएम आॅफिस तक आम आदमी को लूटा जा रहा है। अधिकारियों का तंत्र पूरी तरह से विफल हो चुका है। ये सरकारी नीतियों को ठीक से लागू भी नहीं करवा पा रहे हैं।

विधायक अजीत कुमार उर्फ राजू यादव ने बताया कि तहसील गुन्नौर में सभी कोटेदारों को प्रत्येक माह राशन के उठान के समय बड़े पैमाने पर सुविधा शुल्क देना पड़ रहा है। कोटेदारों के कुछ मुखिया एकत्रित करते हैं। जिसे पूर्ति विभाग में जिले के बड़े अधिकारियों को पहुंचाया जाता है। इससे राशन कोटेदार गांव में राशन वितरण प्रणाली में धांधली कर गरीबों का राशन हड़पते हैं और सरकार के द्वारा गरीबों को चलाई जा रही खाद्य सुरक्षा योजना को पलीता लग रहा है।

विधायक ने इसके बाद जिले के डीएम और एसपी से भी मुलाकात की। विधायक ने अपना पत्र डीएम और एसपी को देते हुए जनता की समस्याओं के बारे में जानकारी दी। विधायक ने चेतावनी भी दी है कि अगर जनसमस्याओं का निदान पूरी तरह से नहीं हुआ तो वह सरकारी तंत्र के खिलाफ धरने पर बैठ जाएंगे। प्रशासन ने विधायक को सभी समस्याओं की जांच करवाकर निदान करवाने की बात कही है। बता दें कि ये पहली बार नहीं है जब किसी भाजपा विधायक ने प्रशासन पर जनता की अनदेखी का आरोप लगाया हो। इससे पहले भी कई बार भाजपा और उसके सहयोगी दलों के नेताओं ने प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App