ताज़ा खबर
 

यूपी-बिहार के लोगों पर हो रहे हमलों पर गुस्सा, बीजेपी के सहयोगियों ने मांगा गुजरात सरकार से इस्‍तीफा

उत्तर भारतीय प्रवासियों पर हमले की घटनाएं अहमदाबाद से लगभग 100 किलोमीटर दूर स्थित हिम्मतनगर कस्बे के निकट एक गांव में 14 वर्षीय एक लड़की का दुष्कर्म होने के बाद शुरू हुई हैं।

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी नेता ओम प्रकाश राजभर (बायें) और बीजेपी नेता सुरेश राणा (दायें)। (Express File Photo by Vishal Srivastav)

गुजरात में उत्‍तर भारतीयों पर हो रहे हमलों से नाराज, उत्‍तर प्रदेश सरकार में सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (SBSP) ने विजय रुपाणी सरकार का इस्‍तीफा मांगा है। SBSP की पूर्वांचल में अच्‍छी पकड़ है जहां से बड़ी संख्‍या में कामगार गुजरात में नौकरी करते हैं। पार्टी अध्‍यक्ष और योगी आदित्‍यनाथ सरकार में काबीना मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने कहा, ”गुजरात में भाजपा का शासन है…भाजपा के लोग गरीबों की बात करते हैं…तो वे उन्‍हें (यूपी, बिहार, एमपी के लोग) दौड़ा क्‍यों रहे हैं? …अगर वहां लोग कमाई करने गए हैं तो उनके साथ इस तरह का व्‍यवहार निंदनीय है। अगर गुजरात सरकार लोगों की सुरक्षा में नाकाम रही है तो उसे इस्‍तीफा दे देना चाहिए।”

राजभर ने कहा कि उन्‍होंने यूपी के वरिष्‍ठ भाजपा नेताओं से बातकर उनसे गुजरात सरकार को पत्र लिख जरूरी कार्रवाई करने की मांग की थी, लेकिन उन्‍होंने मना कर दिया। लोक जनशक्ति पार्टी प्रमुख राम विलास पासवान और केंद्रीय मंत्री तथा राष्‍ट्रीय लोक समता पार्टी अध्‍यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने भी गुजरात सीएम विजय रुपाणी से बात कर प्रवासी मजदूरों की सुरक्षा सुनिश्चित करने को कहा।

प्रवासियों की सुरक्षा के लिए सरकार ने औद्योगिक क्षेत्रों में अतिरिक्त बल तैनात कर दिए हैं। उत्तर भारतीय प्रवासियों पर हमले की घटनाएं अहमदाबाद से लगभग 100 किलोमीटर दूर स्थित हिम्मतनगर कस्बे के निकट एक गांव में 14 वर्षीय एक लड़की का दुष्कर्म होने के बाद शुरू हुई हैं। पुलिस ने इस अपराध के लिए बिहार के एक मजदूर रविंद्र साहू को गिरफ्तार किया था। साहू एक स्थानीय कारखाने में काम करता था। मुख्यमंत्री ने कहा कि अब स्थिति नियंत्रण में है।

हमलों को लेकर पुलिस ने 35 प्राथमिकियां दर्ज की हैं और लगभग 450 लोगों को हिरासत में लिया है। राज्‍य के गृहमंत्री प्रदीपसिंह जडेजा ने सोमवार को कहा, “स्थिति पर नियंत्रण पाने के लिए अबतक की अपनी कार्यवाही से केंद्र सरकार को अवगत करा दिया है।” उन्होंने कहा, “गुजरात की जनता द्वारा ठुकराए गए लोग अपनी राजनीतिक महत्वाकांक्षा के लिए किसी भी स्तर तक गिर सकते हैं। गुजरात पुलिस भी इस अत्याचार के पीछे के मुख्य दोषी को पकड़ने का प्रयास कर रही है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App