ताज़ा खबर
 

अमिताभ बच्चन के फोटो वाले प्रवेश पत्र पर परीक्षा दे रहा अमित

जिले में अमित नामक एक परीक्षार्थी सदी के महानायक अमिताभ बच्चन के फोटो वाले प्रवेश पत्र पर बीएड की परीक्षा दे रहा है। यह त्रुटि प्रथम दृष्टया डॉ राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय फैज़ाबाद के परीक्षा विभाग की तरफ से प्रतीत होती है।

Author गोण्डा, 02 सितम्बर | September 3, 2018 11:49 AM
बीएड की परीक्षाएं शुरू होने से ठीक पहले जब परीक्षार्थियों का प्रवेश पत्र महाविद्यालय में आया तो अमित के प्रवेश पत्र पर सदी के महानायक अमिताभ बच्चन का पासपोर्ट आकार का चित्र छ्पा देखकर सभी दंग रह गए।

जिले में अमित नामक एक परीक्षार्थी सदी के महानायक अमिताभ बच्चन के फोटो वाले प्रवेश पत्र पर बीएड की परीक्षा दे रहा है। यह त्रुटि प्रथम दृष्टया डॉ राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय फैज़ाबाद के परीक्षा विभाग की तरफ से प्रतीत होती है। विवरण के अनुसार, अमित द्विवेदी रवीन्द्र सिंह स्मारक महाविद्यालय सहिबापुर में बीएड द्वितीय वर्ष का छात्र है। उसने विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर अपना नामांकन किया था। इसके उपरांत सभी जरूरी अभिलेख महाविद्यालय कार्यालय में जमा कर दिया। बीएड की परीक्षाएं शुरू होने से ठीक पहले जब परीक्षार्थियों का प्रवेश पत्र महाविद्यालय में आया तो अमित के प्रवेश पत्र पर सदी के महानायक अमिताभ बच्चन का पासपोर्ट आकार का चित्र छ्पा देखकर सभी दंग रह गए। छात्र ने इसकी शिकायत अपने महविद्यालय में की तो प्राचार्य ने परीक्षा केंद्र को एक पत्र लिखकर दूसरा (मैन्युअल) प्रवेश पत्र भी जारी कर दिया, जिससे उसे परीक्षा में बैठने की अनुमति मिल जाये।

विश्वविद्यालय ने इस बार सहिबापुर का परीक्षा केंद्र जिला मुख्यालय पर लाल बहादुर शास्त्री महविद्यालय को बनाया है। शनिवार से शुरू हुई परीक्षा में काफी जांच पड़ताल के बाद उसे परीक्षा में बैठने की अनुमति दे दी गई। शास्त्री महाविद्यालय के प्राचार्य व केंद्राध्यक्ष डा. डीके गुप्त का कहना है कि संभवतः विश्वविद्यालय के कंप्यूटर से त्रुटि बस फोटो बदल गयी है। यह भी संभव है कि जहाँ से आवेदन ऑनलाइन किया गया हो, वहाँ से भी भूलवश दूसरी फोटो वेबसाइट पर अपलोड हो गई हो। मुख्य नियन्ता डॉ. जितेंद्र सिंह ने बताया कि परीक्षार्थी के प्रवेश पत्र के साथ संबंधित महाविद्यालय से प्राप्त पत्र के साथ ही आधार कार्ड से फ़ोटो व अन्य विवरण का मिलान कर तलाशी के बाद उसे परीक्षा की अनुमति दे दी गई।

शास्त्री महाविद्यालय के प्राचार्य व केंद्राध्यक्ष डा. डीके गुप्त का कहना है कि संभवतः विश्वविद्यालय के कंप्यूटर से त्रुटि बस फोटो बदल गयी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App