ताज़ा खबर
 

प्रयागराज में लगे पोस्टर- राम तेरी गंगा मैली हो गई अमित शाह को धोते-धोते

पार्टी अध्यक्ष के खिलाफ लगाए इन पोस्टर्स पर भाजपा ने भी तेखी प्रतिक्रिया दी और कांग्रेस नेता की इस हरकत की खूब आलोचना की।

Author February 14, 2019 3:56 PM
गंगा में डुबकी लगाते भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और सीएम योगी आदित्य नाथ। (photo source- AP)

यूपी के प्रयागराज में चल रहे कुंभ में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के शामिल होने पर कांग्रेस ने निशाना साधा है। शाह बुधवार (13 फरवरी, 2019) को पहली बार कुंभ में पहुंचे और पवित्र गंगा नदी में डुबकी लगाई। इस पर कांग्रेस के एक स्थानीय नेता ने प्रयागराज में पोस्टर्स लगवा दिए। जिनमें लिखा, ‘राम तेरी गंगा मैली हो गई, अमित शाह को धोते-धोते।’ पार्टी अध्यक्ष के खिलाफ लगाए इन पोस्टर्स पर भाजपा ने भी तेखी प्रतिक्रिया दी और कांग्रेस नेता की इस हरकत की खूब आलोचना की। एनबीटी में छपी एक खबर के मुताबिक पोस्टर्स कांग्रेस के एक स्थानीय नेता ने लगवाए। पोस्टर्स का बचाव करते हुए उन्होंने कहा, ‘अलग-अलग जगह जाकर अमित शाह डुबकी लगा रहे हैं। इसलिए हम जानना चाहते हैं कि उन्होंने ऐसे कौन से पाप कर दिए जिन्हें धुलने के लिए वह बार-बार गंगा में पहुंच जाते हैं।’

कांग्रेस नेता ने भाजपा सरकार पर घोटालों में लिप्त रहने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि इन्हीं घोटालों के पापों को धोने के लिए भाजपा नेता गंगा में डुबकी लगाने पहुंच जाते हैं। इन नेताओं के पाप धोते गंगा भी मैली हो गई। हालांकि ऐसा पहली बार नहीं है जब स्थानीय नेता इरशाद उल्ला ने इस तरह के विवादित पोस्टर्स लगवाए हो। इससे पहले उन्होंने कुंभ में दुर्गा अवतार में प्रियंका गांधी के पोस्टर्स लगवा दिए। जिनमें लिखा था, ‘कांग्रेस की दुर्गा करेंगी शत्रुओं का वध।’

यहां देखें वीडियो-

गौरतलब है कि शाह के साथ भाजपा के संगठन महामंत्री रामलाल, प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय, प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरि और महामंत्री हरि गिरि, जूना अखाड़ा के आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी अवदेशानंद गिरि, श्री राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास, योग गुरू स्वामी रामदेव, परमार्थ निकेतन के मुनि चिदानंद और कई अखाड़ों के साधु संतों ने भी बुधवार को संगम मे डुबकी लगाई।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App