ताज़ा खबर
 

चोटी काटने वाली समझकर भीड़ ने पीटकर ले ली दलित विधवा की जान

आगरा के डौकी के गांव मगठई में एक दलित विधवा की ग्रामीणों ने चोटी काटने वाली समझकर पर पीट-पीटकर हत्या कर दी।

Author , August 3, 2017 12:32 PM
इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

आगरा के डौकी के गांव मगठई में बुधवार (2 अगस्त) को एक दलित विधवा की ग्रामीणों ने चोटी काटने वाली समझकर पर पीट-पीटकर हत्या कर दी तो वहीं पुलिस ने तहरीर पर दो लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। बुधवार तड़के यहां चारपाई पर एक लड़की सो रही थी। उसी दौरान उस लड़की की नींद टूट गई और अचानक सफेद साड़ी में एक महिला को सामने देख युवती ने शोर मचा दिया। शोर सुनकर बस्ती के लोग निकल आए और महिला को चुड़ैल समझ पीटना शुरू कर दिया।

आनन-फानन में महिला को आगरा के एक अस्पताल लेकर पहुंचे। प्रारम्भिक इलाज के बाद महिला को घर भेज दिया गया, लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गयी। इस घटना के बाद गांव में दहशत और तनाव का माहौल है। वहीं पुलिस ने बताया अफवाह पर पिटाई करने वालों में मनीष और सोनू नाम के दो लोगों की मुख्य भूमिका बताई जा रही है। दोनों भाई हैं और घटना के बाद से ही फरार हैं। पुलिस दोनों की तलाश में जुटी है। वहीं शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी सामने आ गई है। फतेहाबाद सर्किल अफसर तजवीर सिंह ने बताया कि मानदेवी के सिर और हाथों पर गंभीर चोटों के निशान थे। रिपोर्ट में मौत का कारण हार्ट अटैक बताया गया है।

पुलिस ने मानदेवी के बेटे मनोज की शिकायत के बाद सोनू और मनीष के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस ने अनुसूचित जाति/जनजाति एक्ट के तहत मनीष, सोनू के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की गिरफ्तारी का प्रयास शुरू कर दिया। वहीं मामले को लेकर आगरा एसएसपी, दिनेश चंद्र दूबे ने कहा, “पुलिस इस मामले में कड़ी कार्रवाई करेगी। उन लोगों के खिलाफ सख्त ऐक्शन लिया जाएगा जो महिला को चोटी काटने वाली चुड़ैल बता रहे हैं।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App