ताज़ा खबर
 

यूपी: किसान की हत्या कर लाश पेड़ से लटकाई, फैला जातीय तनाव

पुलिस चौकी पर दोनों पक्षों में समझौता हो गया था लेकिन परिजन का आरोप है कि उसके बाद उन लोगों ने खेतों में हत्या कर शव को पेड़ से लटका दिया। चौकी की पुलिस ने शव को पेड़ से उतारने का प्रयास किया तो ग्रामीणों ने अधिकारियों को बुलाने की मांग को लेकर हंगामा कर दिया।

Author Updated: November 12, 2018 9:30 PM
तस्वीर का प्रयोग प्रतीक के तौर पर किया गया है। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

सिकंदरा के लौहकरेरा गांव में सोमवार सुबह एक किसान की कथित तौर पर हत्या करके शव को पेड़ पर लटका देने का मामला सामने आया है। घटना से गांव में जातीय तनाव पैदा हो गया है। बढ़ते तनाव को देखते हुए गांव में कई थानों की फोर्स बुला ली गई है। ग्रामीण आरोपियों की तुरंत गिरफ्तारी कर सख्त कार्रवाई और मुआवजे की मांग कर रहे हैं। मामले के अनुसार लौहकरेरा निवासी 55 वर्षीय रज्जाराम रात को अपने खेत पर सोने के लिए गया था। सोमवार सुबह उसका शव पेड़ पर लटका मिला। सुबह ग्रामीणों ने शव देख परिजन को जानकारी दी। घटना से जातीय तनाव की स्थिति पैदा हो गयी। परिजन ने हत्या का आरोप गांव के ही जाटव पक्ष के लोगों पर लगाया है।

रविवार शाम को किसान का आरोपी पक्ष के लोगों से विवाद हुआ था। पुलिस चौकी पर दोनों पक्षों में समझौता हो गया था लेकिन परिजन का आरोप है कि उसके बाद उन लोगों ने खेतों में हत्या कर शव को पेड़ से लटका दिया। चौकी की पुलिस ने शव को पेड़ से उतारने का प्रयास किया तो ग्रामीणों ने अधिकारियों को बुलाने की मांग को लेकर हंगामा कर दिया। सीओ हरीपर्वत अभिषेक और इंस्पेक्टर सिकंदरा अजय कौशल ने परिजन को समझाया लेकिन वे उनकी बात सुनने को तैयार नहीं हुए। थाना सिकंदरा के इंस्पेक्टर अजय कौशल ने बताया कि परिजन को समझा बुझाकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। परिजन ने हत्या के संबंध में तहरीर दी है जिसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जायेगी।

महिला का उत्पीड़न करने को लेकर हुये संघर्ष में नौ घायल

वहीं, मुजफ्फरनगर में एक महिला का उत्पीड़न किए जाने की घटना को लेकर दो समूहों के बीच हुए संघर्ष में नौ लोग घायल हो गये। पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी दी। घटना उत्तर प्रदेश में मुजफ्फरनगर जिले के खैखेरी गांव में हुई। थानाध्यक्ष जितेन्द्र कुमार ने बताया कि रविवार को बहादुर सिंह नाम के व्यक्ति की बलराज के साथ झड़प हो गई। बलराज के एक परिचित द्वारा बहादुर सिंह की परिचित एक महिला के साथ की गई छेड़छाड़ के कारण यह घटना हुई। उन्होंने बताया कि एक ही समुदाय से ताल्लुक रखने वाले दो दलित समूहों के बीच हुए इस हिंसक संघर्ष में लाठी और धारदार हथियारों का इस्तेमाल किया गया। थानाध्यक्ष ने बताया कि घटना में घायल हुए नौ लोगों को अस्पताल ले जाया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 जनता से बोले बीजेपी सांसद- हमारी कोई सुन नहीं रहा, तुम्हारी कौन सुनेगा
2 भाषण के दौरान बिगड़ी केंद्रीय मंत्री की तबीयत, अस्पताल में करवाना पड़ा भर्ती