ताज़ा खबर
 

दहेज ना मिलने पर कोर्ट में तीन तलाक देकर फरार हुआ शख्‍स, बेहोश होकर गिर गई पत्‍नी

अहमद शादी के बाद से ही दहेज में बाइक, सोने की चेन और पैसे समेत कई चीजों की मांग कर रहा था।

Restrictions, Whole Face Mask, Burka, Austria, Austria Restrictions, Burka Restrictions, Restrictions on Burka, Burka Ban, Burka Controversy, Ban on Whole Face Mask, Whole Face Mask on Austria, International News, Jansattaसरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अगर कोई पति एक बार में तीन तलाक बोलता है, तो अब विवाह समाप्त नहीं होगा। (Photo Source: Twitter)

पूरे देश में तीन तलाक का मुद्दा चर्चा का विषय बना हुआ है। आजकल कोई ई-मेल के जरिए अपनी पत्नी को तलाक दे रहा है, तो कोई व्हाट्सअप के जरिए तलाक दे रहा है। एक व्यक्ति ने तो हद ही कर दी। कोर्ट में सुनवाई के लिए पहुंचा यह व्यक्ति कोर्ट परिसर में अपनी पत्नी को तलाक,तलाक,तलाक कहकह बीवी और डेढ़ साल की बच्ची को छोड़कर वहां से भाग खड़ा हुआ। यह मामला उत्तर प्रदेश के फैजाबाद का है। पति के इस तरह तलाक देने से अचंभित रुकैया खातून बेहोश होकर वहीं जमीन पर गिर पड़ी। आजतक की रिपोर्ट के अनुसार 2014 में रुकैया खातून का निकाह महफूज़ अहमद के साथ हुआ था। अहमद शादी के बाद से ही दहेज में बाइक, सोने की चेन और पैसे समेत कई चीजों की मांग कर रहा था।

रुकैया के परिवार ने उनकी मांग पूरी करने से इनकार कर दिया, जिसके चलते उसके ससुरालवालों उसे प्रताड़ित करने लगे। इस सबसे परेशान आकर रुकैया ने अपने ससुरालवालों के खिलाफ 2015 में पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई। इसी के साथ रुकैया ने गुजारे भत्ते के लिए कोर्ट में अर्जी दाखिल की। इस मामले की सुनवाई के लिए गोंडा के फैमिली कोर्ट में पहुंचे अहमद ने कोर्ट परिसर में रुकैया को तलाक दे दिया। रुकैया ने कहा कि पहले मेरे ससुरालवालों ने मुझे दहेज के लिए प्रताड़ित किया और अब मेरे पति ने मुझे तलाक दे दिया। मैं अपना और अपनी डेढ़ साल की बेटी का पालन-पोषण कैसे करुंगी। रुकैया ने कहा कि अहमद ने मेरी और मेरी बेटी दोनों की जिंदगी के साथ खिलवाड़ किया है।

इस बारे में जब स्थानीय मौलाना से बात की गई तो उन्होंने कहा हमारे पास इस मामले की कोई शिकायत नहीं आई है। अगर महिला हमसे इसकी शिकायत करती है तो उस व्यक्ति का समाज से बहिष्कार कर दिया जाएगा। आपको बता दें कि हाल ही में राजधानी लखनऊ के नदवा कालेज में ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की दो दिवसीय मैराथन बैठक हुई थी, जिसमें कहा गया था कि अगर कोई भी व्यक्ति इस प्रकार अपनी बीवी को तलाक देगा तो उसका सामाजिक बहिष्कार दिया जाएगा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पालतू बछड़े की हत्या करने वाले दलित ने सामाजिक बहिष्कार के डर से ट्रेन के आगे कूदकर दी जान
2 योगी आदित्‍यनाथ सरकार के इन दो विवादित फैसलों को लोगों ने खूब किया पसंद: सर्वे
3 18वीं मंजिल तक सीढ़ियों से चढ़े योगी के मंत्री सुरेश पासी, साथ चलने में अफसर हुए हलकान, किसी की बीपी बढ़ी, तो किसी की धड़कन
IPL 2020
X