ताज़ा खबर
 

धर्म बदल हिन्‍दू बने, 30 साल से भारत में, जानिए कौन हैं कुंभ मेला में पहुंचे ‘फ्रेंच बाबा’

हिंदू धर्म में गहरी आस्था रखने वाले डेनियल कहते हैं कि, 'मुझे सनातम धर्म से बहुत लगाव है। सनातन धर्म शांति की सीख देता है। हम सभी एक ही ईश्वर को मानते हैं'।

Author December 31, 2018 7:22 AM
‘फ्रेंच बाबा’ का वास्तविक नाम डेनियल है। (फोटो सोर्स : ANI)

उत्तर प्रदेश में होने जा रहे देश के सबसे बड़ी धार्मिक आयोजन कुंभ की तैयारियां अंतिम चरण में हैं। हालांकि कुंभ की छटा बहुत समय पहले ही दिखने लगती है। कुंभ में लगने वाले मेले में देश ही नहीं बल्कि विदेशों के लोग भी श्रद्धालु बन आते हैं। लेकिन इस मेले में यहां आने वाले साधु सबसे रहस्यमयी किरदार निभाते हैं। जो हर किसी का ध्यान खींचते हैं। ऐसा ही एक किरदार कुंभ में पहुंच चुका है। यह ‘फ्रेंच बाबा’ सभी को आकर्षित कर रहे हैं।

कुंभ मेले में करीब दो हफ्ते का समय बाकी है। इसके मद्देनजर ‘फ्रेंच बाबा’ यहां पहुंच चुके हैं। ‘फ्रेंच बाबा’ का वास्तविक नाम डेनियल है। डेनियल ने हिंदू धर्म अपना चुके हैं। इनके अनुयायी इन्हें भगवान गिरी के नाम से जानते हैं। डेनियल अपना घर छोड़ चुके हैं। वह भारत में करीब 30 साल से रह रहे हैं। डेनियल ने हिंदी सीखी है। हालांकि वह टूटी फूटी हिंदी ही बोलते हैं और कोशिश करते हैं कि सभी से हिंदी में ही बात करें।

हिंदू धर्म में गहरी आस्था रखने वाले डेनियल कहते हैं कि, ‘मुझे सनातम धर्म से बहुत लगाव है। सनातन धर्म शांति की सीख देता है। हम सभी एक ही ईश्वर को मानते हैं। हम सभी एक ही आत्मा को कई नामों से जानते हैं’। वह कहते हैं कि, प्रेम है तो सब आनंद है। भगवान गिरी बन चुके डेनियल देवगिरी बाबा महाराज के अनुयायी हैं। डेनियल पूरी तरह एक साधु की तरह रहते हैं। वह भगवा वस्त्र धारण करते हैं। माथे पर चंदन का टीका लगाते हैं। डेनियल वही खाते हैं जो उनके साथी साधु खाते हैं। डेनियल अब कुंभ खत्म होने तक यहीं डेरा डाल कर रहेंगे।

बता दें कि कुंभ दुनिया के कुछ बड़े धार्मिक अनुष्ठानों में एक है। प्रयागराज में  15 जनवरी से कुंभ शुरू हो रहा है। इस मेले को यूनेस्को की भी मान्यता मिल चुकी है। कुंभ मेले की तारीख के साथ ही शाही स्नान की तारीखें भी सामने आ चुकी हैं। 4 मार्च को शिवरात्रि के साथ ही मेले का समापन हो जाएगा। कुंभ में शाही स्नान के साथ ही साधुओं के अखाड़े भी काफी सुर्खियों में रहते हैं। बता दें कि इन अखाड़ों में डॉक्टर से लेकर प्रोफेसर भी शामिल रहते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X