ताज़ा खबर
 

वीडियो: बुजुर्ग महिला को घसीटते हुए घर से ले गई योगी आद‍ित्‍यनाथ की पुलिस, बेअसर रही मासूम की मनुहार और पर‍िवार की गुहार

बुजुर्ग महिला भी खुद को पुलिसवालों से छुटाने की जी-तोड़ कोशिश करती है लेकिन वह कामयाब नहीं हो पाती।

महिला के परिजन पुलिसवालों से उसे छोड़ने की विन्नती करते हैं लेकिन वे परिजनों की एक नहीं सुनते और महिला का घसीटते रहते है। (Photo Source: ANI Video Grab)

उत्तर प्रदेश में बेशक सरकार बदल गई हो लेकिन यूपी पुलिस की कार्यशैली पर अभी भी सवाब खड़े होते हैं। समाजवादी पार्टी की सरकार में कई ऐसे मामले सामने आए थे जहां पर पुलिस द्वारा लोगों से बदसलूकी की जाती थी। सरकार बदल गई लेकिन पुलिस नहीं बदली। राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार में भी पुलिसकर्मियों द्वारा लोगों के साथ गंदा बर्ताव करने के मामले सामने आ रहे हैं। ताजा मामला अमरोहा का है जहां पर पुलिसवालों ने 70 वर्षीय महिला को उसके घर से घसीट कर बाहर निकाला। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। इस वीडियो को अब तक एक मिलियन लोग देख चुके हैं और 20 हजार से ज्यादा लोग शेयर कर चुके हैं।

इस वीडियो में दिखाई दे रहा है कि कैसे कुछ महिला और पुरुष पुलिसकर्मी एक घर में घुसते हैं और बुजुर्ग महिला को घर से बाहर लाने के लिए जमीन पर घसीटते हैं। महिला के परिजन पुलिसवालों से उसे छोड़ने की विन्नती करते हैं लेकिन वे परिजनों की एक नहीं सुनते और महिला का घसीटते रहते है। एक छोटा सा बच्चा भी इस वीडियो में दिखाई दे रहा है जो कि रोते हुए महिला पुलिसकर्मी से उसकी दादी को छोड़ने के लिए कहता है कि तभी एक पुलिसवाला उसे गोद में उठा लेता है। इस बीच बुजुर्ग महिला भी खुद को पुलिसवालों से छुटाने की जी-तोड़ कोशिश करती है लेकिन वह कामयाब नहीं हो पाती। इसके बाद दो महिला पुलिसकर्मी बुजुर्ग महिला को घसीटकर बाहर ले आती हैं और उसे जीप में बैठाकर अपने साथ ले जाते हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार इस बुजुर्ग महिला का परिवार जिस घर में रह रहा था, उसपर उन्होंने गैर कानूनी कब्जा कर रखा था। 15 साल पहले सुधीर सिंघल नाम के व्यक्ति ने इस मकान को शौकीन अली नाम के आदमी को बेच दिया था। बुजुर्ग महिला का परिवार इस घर में किराए पर रहता था लेकिन वह इसे खाली नहीं कर रहा था। इसके बाद शौकीन अली ने इसकी शिकायत कोर्ट में की और कोर्ट ने पुलिस को इस मकान को खाली कराने का आदेश दिया। वहीं इस वीडियों के सामने आने के बाद पुलिस ने अपनी सफाई में कहा कि हमने केवल कोर्ट के आदेश का पालन किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App