ताज़ा खबर
 

यूपी: भीड़ ने पीट-पीटकर की मुस्लिम शख्स की हत्या, विवाद की वजह जान चौंक जाएंगे

इस घटना के बाद सुनील ने कई लोगों को घटनास्थल पर बुला लिया।

Author फरुखाबाद | Updated: September 22, 2017 9:22 AM
इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

देश में रोडरेज की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं। ताजा मामला उत्तर प्रदेश के कटरा-फरुखाबाद हाइवे का है जहां पर एक बाइक से साइकिल सवार को हल्की सी टकर लगने के बाद विवाद खड़ा हो गया और एक व्यक्ति की जान चली गई। मृतक की पहचान 55 वर्षीय नबी अहमद के रूप में हई है। पुलिस ने इस मामले में आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। पीड़ित परिवार के अनुसार जलालाबाद थाना क्षेत्र के गौसनगर टाउन निवासी नबी अहमद और अजमत उल्लाह बुधवार को अपने एक रिश्तेदार की शादी में शरीक होकर कटरा से घर वापस लौट रहे थे। यह घटना अट्टीबारा गांव की पास की है।

सुनील कुमार नाम का व्यक्ति अपनी साइकिल पर कुछ पाइप लेकर हाइवे से गुजर रहा था कि नबी की बाइक उसकी साइकिल से टकरा गई। जैसे ही दोनों में टक्कर हुई नबी, अजमत और सुनील तीनों जमीन पर गिर पड़े। चूंकि सुनील की शादी अट्टीबारा गांव की रहने वाली एक लड़की से हुई थी तो वह वहां पर ज्यादतर लोगों को जानता था। इस घटना के तुरंत बाद सुनील ने कई लोगों को घटनास्थल पर बुला लिया। मौके पर पहुंची भीड़ ने नबी और अजमत की बेरहमी से पिटाई की जिसमें नबी की घटनास्थल पर ही मौत हो गई और अजमत बुरी तरह से घायल हो गया। टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार नबी के बेटे शारिक अहमद ने बताया कि उसके पिता और अजमत की लंबी दाढ़ी को देखकर भीड़ समझ गई थी कि वे मुसलमान है और उन्होंने उनकी बुरी तरह से पिटाई कर दी।

इस घटना की सूचना पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने नबी और अजमत को अस्पताल पहुंचाया जहां पर नबी का पोस्टमार्टम कराया गया औऱ अजमत की गंभीर हालत बनी हुई है। गुरुवार को पुलिस ने इस मामले में आरोपियों के खिलाफ लापरवाही का मामला दर्ज किया है। एक पुलिस अधिकारी द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने के बाद आरोपियों के खिलाफ हत्या से जुड़ी धाराएं लगाई जाएंगे।

देखिए वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 सपा में फिर तकरार, अखिलेश के करीबी रामगोपाल को मुलायम ने लोहिया ट्रस्ट से हटाया