ताज़ा खबर
 

अलीगढ़ : पेटी में रखे थे 500 रुपए के काफी नोट, रद्दी बताकर आग लगवा दी

अलीगढ़ स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (पीएचसी) बन्नादेवी में सफाई के बाद जलाए गए कूड़े में नई करंसी के 500-500 रुपए के नोट निकले। इस मामले का खुलासा हुआ तो अधिकारियों में हड़कंप मच गया, लेकिन कोई भी कुछ बोलने के लिए तैयार नहीं है।

प्रतीकात्मक फोटो सोर्स : इंडियन एक्सप्रेस

अलीगढ़ स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (पीएचसी) बन्नादेवी में सफाई के बाद जलाए गए कूड़े में नई करंसी के 500-500 रुपए के नोट निकले। इस मामले का खुलासा हुआ तो अधिकारियों में हड़कंप मच गया, लेकिन कोई भी कुछ बोलने के लिए तैयार नहीं है। वहीं, पीएचसी के कुछ कर्मचारी आग में से नोट निकालकर ले गए।

जानकारी के मुताबिक, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में शासन की सर्वे टीम के आने का अनुमान है। इसके चलते केंद्र में सफाई की जा रही थी। बुधवार शाम एक अलमारी को साफ किया गया, जिसमें से एक पेटी निकली। केंद्र के अधिकारियों ने इस पेटी में रद्दी होने की बात कही और महिला सफाई कर्मचारी को उसमें आग लगाने का निर्देश दिया। आग लगने के बाद कूड़े के ढेर से नई करंसी के 500-500 के नोट चारों तरफ बिखरने लगे। सफाई कर्मचारी ने मामले की जानकारी केंद्र प्रभारी को दी तो उन्होंने मामले नोटों को नकली बताया। इस बीच केंद्र का एक कर्मचारी आग के पास पहुंचा और नोटों को अपने स्कूटर की डिग्गी में भरकर ले गया। घटना की रिपोर्ट तैयार कर ली गई है, जिसे विभाग के उच्चाधिकारियों को सौंपा जाएगा।

कुछ दिन पहले केंद्र में हुई थी चोरी
पीएचसी के कर्मचारी और अधिकारी यह नहीं बता पा रहे हैं कि अलमारी में इतनी बड़ी रकम कहां से आई। सूत्रों के मुताबिक, यह अलमारी हर वक्त खुली रहती थी। ऐसे में नई करंसी छिपाने में पीएचसी स्टाफ की मिलीभगत हो सकती है। इसके अलावा कुछ दिन पहले केंद्र में चोरी भी हुई थी।

महिला सफाई कर्मचारी को फंसाने की कोशिश
सूत्रों का मानना है कि महिला सफाई कर्मचारी को जानबूझकर कूड़े में आग लगाने के लिए कहा गया। अब कई कर्मचारी मिलकर उस पर ही नोटों का ठीकरा फोड़ने की योजना बना रहे हैं। वहीं, नोट बटोरते वक्त कुछ कर्मचारियों का वीडियो भी बनाया गया है।

जांच के बाद होगी कार्रवाई
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. मदनलाल अग्रवाल के मुताबिक, इस मामले में कोई शिकायत नहीं मिली है, लेकिन घटना की जांच अपने स्तर पर की जा रही है। अगर गड़बड़ी मिलती है तो आरोपियों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

 

‘अलमारी में नोट कहां से आए, मुझे नहीं पता’
पीएचसी प्रभारी डॉ. केसी भारद्वाज का कहना है, ‘‘अलमारी में नोट कहां से आए, मुझे इसकी जानकारी नहीं। मुझे यह भी पता नहीं था कि कूड़े के ढेर में नोट जलाए जा रहे हैं। हालांकि, कूड़े के ढेर के पास कुछ जले हुए नोट बरामद हुए हैं। मामले की जांच की जा रही है।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App