ताज़ा खबर
 

यूपी: आदित्‍य नाथ सरकार का क्‍लीन ब्‍यूरोक्रेसी प्‍लान- एक्‍सटेंशन पाकर जमे 5 दर्जन अधिकारियों को किया बाहर

इस सप्‍ताह, कई कॉर्पोरेशंस के सलाहकारों और चेयरपर्संस को हटाया गया है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्‍य नाथ। (PTI Photo)

उत्‍तर प्रदेश में योगी आदित्‍य नाथ के नेतृत्‍व में भाजपा की नई सरकार तेजतर्रार रुख अख्तियार किए हुए हैं। 100 दिन का प्राथमिकता प्‍लान, हर विभाग द्वारा मुख्‍यमंत्री को पावर-प्‍वॉइंट प्रजेंटेंशन, बॉयोमीट्रिक अटेंडेंस जैसे कदम उठाकर योगी सरकार ने अधिकारियों व सरकारी कर्मचारियों के पेंच कसने शुरू कर दिए हैं। बीजेपी सरकार ने रिटायरमेंट के बावजूद एक्‍सटेंशन पाकर पदों पर बैठे करीब पांच दर्जन अधिकारियों को ‘नमस्‍ते’ कह दिया है। शनिवार को राज्‍य के मुख्‍य सचिव राहुल भटनागर ने बताया कि विभिन्‍न विभागों में 60 वरिष्‍ठ अधिकारियों की पुर्ननियुक्‍ति रद कर दी गई है। भटनागर ने इकॉनमिक टाइम्‍स ने बातचीत में कहा, ”ऐसे एक्‍सटेंशन पर 78 अधिकारी थे… और भी हो सकते हैं क्‍योकि अभी पूरी जानकारी आनी बाकी है। हमने सिर्फ 18 को रखा है जो कि तकनीकी विषय देख रहे हैं। (पिछली) सरकार से नजदीकियों की वजह से कुछ लोग लंबे समय से पदों पर बैठे थे। इस सप्‍ताह, कई कॉर्पोरेशंस के सलाहकारों और चेयरपर्संस को हटाया गया है। इतने बड़े पैमाने पर सफाई होना अच्‍छा है।”

भटनागर के मुताबिक, सेवा कर रहे अध‍िकारियों को एक मौका मिलना चाहिए मगर एक्‍सटेंशन तीन महीनों से ज्‍यादा का नहीं होना चाहिए। आदित्‍य नाथ ने सभी विभागों से प्राथमिकता के आधार पर उन कार्यों की योजना तैयार करने को कहा है कि जिन्‍हें सरकार के शुरुआती 100 दिनों में पूरा कर ‘जमीन पर एक परिवर्तन’ दिखाया जा सके। पीडब्ल्यूडी से कहा गया है कि 15 जून तक राज्य की सभी सड़कों के गड्ढे भरे जाएं।

सरकारी दफ्तरों में सीसीटीवी कैमरे लगाने के भी निर्देश दिए गए हैं। राजनेताओं की सुरक्षा समीक्षा के अलावा सभी से अपनी संपत्ति का ब्योरा 15 दिन में देने को कहा गया है। नवरात्र, रामनवमी और शक्तिपीठों में 9 दिन लगातार बिजली देने का भी आदेश दिया गया है।

मंत्रियों और अधिकारियों को आदेश दिया गया है कि वह 10 बजे तक ऑफिस पहुंचें। बायोमीट्रिक सिस्टम लगने से सरकारी दफ्तरों में पहुंचने वाले लोग भी राहत महसूस कर रहे हैं। इसके अलावा सरकारी दफ्तरों में पान मसाला और गुटखे पर बैन ने भी लोगों का ध्यान खींचा है। कैलाश-मानसरोवर पर जाने वाले तीर्थयात्रियों के लिए सब्सिडी बढ़ाकर 1 लाख रुपये कर दी गई है, जो पहले 50 हजार थी।

योगी आदित्‍य नाथ से जुड़ी सभी खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

योगी आदित्यनाथ इन तस्वीरों पर भी गौर कर लेते तो गैरभाजपाई वोटर्स भी हो जाते मुरीद: 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App