ताज़ा खबर
 

बिना वारंट गिरफ्तारी और तलाशी कर सकेगी स्पेशल फोर्स, योगी सरकार ने एसएसएफ के गठन की जारी की अधिसूचना

यूपी स्पेशल सिक्योरिटी फोर्स राज्य में महत्वपूर्ण सरकारी इमारतों, दफ्तरों और औद्योगिक प्रतिष्ठानों की सुरक्षा की जिम्मेदारी निभाएगी। इसके अलावा प्राइवेट कंपनियां भी भुगतान कर एसएसएफ की सेवाएं ले सकेंगी।

up ssf uttar pradesh yogi adityanathयोगी सरकार ने स्पेशल फोर्स के गठन की मंजूरी दे दी है। (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने अहम फैसला लेते हुए ‘उत्तर प्रदेश स्पेशल सिक्योरिटी फोर्स’ (Uttar Pradesh Special Security Force) के गठन को मंजूरी दे दी है। इसके लिए सरकार की तरफ से अधिसूचना जारी कर दी गई है। बता दें कि यूपी स्पेशल सिक्योरिटी फोर्स (विशेष सुरक्षा बल) का नेतृत्व एडीजी स्तर का अधिकारी करेगा। बता दें कि इस बल को ढेर सारी शक्तियां दी गई हैं। जिनमें बिना वारंट गिरफ्तारी और तलाशी की पावर भी शामिल है।

यूपी स्पेशल सिक्योरिटी फोर्स राज्य में महत्वपूर्ण सरकारी इमारतों, दफ्तरों और औद्योगिक प्रतिष्ठानों की सुरक्षा की जिम्मेदारी निभाएगी। इसके अलावा प्राइवेट कंपनियां भी भुगतान कर एसएसएफ की सेवाएं ले सकेंगी। गौरतलब बात ये है कि एसएसएफ के अधिकारियों और जवानों के खिलाफ अदालत भी संज्ञान नहीं ले सकेगी। बता दें कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने 26 जून को यूपी स्पेशल सिक्योरिटी फोर्स के गठन को मंजूरी दी थी। अब गृह विभाग ने इसकी अधिसूचना जारी कर दी है। शुरुआत में एसएसएफ की पांच बटालियन होंगी। जिन्हें धीरे धीरे बढ़ाए जाने की योजना भी है।

यूपी एसएसएफ को सीआईएसएफ की तर्ज पर बनाया जाएगा। सीआईएसएफ की तरह ही एसएसएफ यूपी में मेट्रो रेल, एयरपोर्ट, औद्योगिक संस्थानों, बैंकों, वित्तीय संस्थानों, ऐतिहासिक, धार्मिक व तीर्थ स्थानों, जनपदीय न्यायालयों की सुरक्षा करेगा। सरकार का कहना है कि एसएसएफ को उच्च स्तरीय ट्रेनिंग के साथ ही संचार के उन्नत साधन और आधुनिक हथियारों से लैस किया जाएगा।

.इस फोर्स को प्रदेश की कानून व्यवस्था दुरुस्त रखने के लिए कई अधिकार मिले हैं। इससे पहले राज्य में कानून व्यवस्था संभालने की जिम्मेदारी यूपी पुलिस, पीएसी और आरआरएफ की थी, अब एसएसएफ भी इसमें अहम भूमिका निभाएगी। इस फोर्स का मुख्यालय लखनऊ में होगा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 मेरे साथ नाइंसाफ़ी हुई- महाराष्ट्र के राज्यपाल को कंगना रनौत ने बताई पूरी कहानी
2 ये हैं दशरथ मांझी पार्ट-2! उम्र 70 बरस, पर जज्बा ऐसा कि 30 साल में अकेले ही छैनी-हथौड़े से पहाड़ को काट बना दी नहर
3 हिमाचल प्रदेश में BJP आईटी सेल चीफ ने संजय राउत के खिलाफ दी शिकायत, कंगना के खिलाफ बयान पर लिया कदम
IPL 2020 LIVE
X