ताज़ा खबर
 

UP: जहरीली शराब पीने से 3 की मौत, ग्रामीणों का आरोप- पुलिस की देखरेख में चलता है अवैध शराब का धंधा

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में जहरीली शराब पीने से 3 लोगों की मौत की खबर है। स्थानीय लोगों का आरोप है कि इस इलाके में अवैध शराब का कारोबार होता है।

जहरीली शराब से मौत के बाद मातम फोटो सोर्स- ट्विटर/ANI

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में जहरीली शराब पीने से तीन लोगों की मौत की खबर है। स्थानीय लोगों का आरोप है कि इस इलाके में अवैध शराब का कारोबार होता है। जिसके चलते अक्सर ऐसे मामले सामने आते रहते हैं। जिसके बाद सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने इन मौतों को स्वाभाविक बताया, इससे ग्रामीण भड़क गए। ग्रामीणों के रुख को देखते हुए पुलिस ने दो शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। फिलहाल पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। अवैध शराब का धंधा बंद कराने के लिए लोगों ने जमकर प्रदर्शन किया।

मामला कुशीनगर के तरयासुजान थाने के जवही दयाल गांव का है। बताया जा रहा है कि यहां देवा निषाद (65) पुत्र किशुनी, हीरालाल (35) पुत्र सरका निषाद, अवध (50) पुत्र राधा किशुन पेशे से मजदूर थे। मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो ये लोग मंगलवार की शाम गांव के नजदीक बन रही कच्ची शराब पीने चले गए। लेकिन शराब पीने के कुछ देर बाद ही इनकी हालत अचानक खराब हो गई। तीनों को जब उल्टी होने लगी तो परिवार वालों ने स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया जहां डॉक्टरों ने इन्हें मृत घोषित कर दिया। मृतकों में अवध के परिजनों ने उसका अंतिम संस्कार कर दिया। लेकिन देवा व हीरालाल के शव को परिवारवालों ने गांव में रोक लिया। जिसके बाद ग्रामीणों ने अवैध शराब के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए पुलिस को घटना की जानकारी दी।

मामले की सूचना पाकर पुलिस क्षेत्राधिकारी आरके तिवारी, उप जिलाधिकारी तमकुही प्रमोद कुमार और थानाध्यक्ष पटहेरवा संजय मिश्र दल-बल के साथ गांव पहुंचे। लेकिन यहां पहुंचे अधिकारियों ने इन मौतों को स्वाभाविक बता दिया जिससे लोगों का गुस्सा भड़क गया। जिसके बाद मामले को शांत करते हुए पुलिस अधीक्षक राजीव नारायण मिश्र ने दोनों शवों का पोस्टमार्टम कराए जाने का निर्देश दिया। एसपी के मुताबिक, पोस्टमार्टम रिपोर्ट से मौत के कारणों का पता चल जाएगा। फिलहाल ग्रामीणों का दावा है कि जहरीली शराब पीने से ही तीनों की मौत हुई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App