ताज़ा खबर
 

सहायक अध्यापक परीक्षा: पूरे UP में हो रही थी नकल, अलग-अलग जिलों में प्रिंसिपल सहित 26 गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश में सह अध्यापक परीक्षा में नकल में मदद कराने के लिए कुल 26 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। जिसमें एक इंटर- कॉलेज के प्रिंसिपल और शिक्षक भी शामिल हैं।

प्रतीकात्मक फोटो, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

उत्तर प्रदेश में सह अध्यापक परीक्षा में नकल में मदद कराने के लिए कुल 26 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। जिसमें एक इंटर- कॉलेज के प्रिंसिपल और शिक्षक भी शामिल हैं। बता दें कि एसटीएफ (स्पेशल टास्क फोर्स) और लोकल पुलिस की टीम ने मिलकर ये धड़पकड़ की। इस औचक निरीक्षण के ज्वाइंट ऑपरेशन में लखनऊ से 9 जबकि प्रयागराज से 4 लोग गिरफ्तार किए गए।

एसटीएफ की रिपोर्ट: दरअसल एसटीएफ (स्पेशल टास्क फोर्स) की रिपोर्ट के मुताबिक उन्हें नकल की सूचना मिली जिसके बाद वो लोकल पुलिस के साथ वो लखनऊ नेशनल इंटर कॉलेज पहुंचे और अरुण कुमार सिंह को गिरफ्तार किया जो कि इस नकल गैंग का लीडर था। अरुण कुमार सिंह से पूछताछ पर एसटीएफ (स्पेशल टास्क फोर्स) को पता लगा कि इस नकल गिरोह में कॉलेज प्रिंसिपल उमा शंकर सिंह, शिक्षक राम शुक्ला और निरीक्षक शाहनूर भी नकल में कैंडिडेट्स की मदद कर रहे थे। इनके साथ ही निरीक्षक अशोक मिश्रा, विजय मिश्रा और दयानंद जोशी को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। वहीं पेपर सॉल्व कर रहे खुर्शीद आलम और बिरकेश यादव भी पुलिस के हत्थे चढ़े हैं।

बाकी जगह भी हुए छापेमारी: एसटीएफ (स्पेशल टास्क फोर्स) की रिपोर्ट के मुताबिक लखनऊ नेशनल इंटर कॉलेज के अलावा एसटीएफ ने लोकल पुलिस के साथ सहारा पब्लिक गर्ल्स इंटर कॉलेज और सरोज विद्याशंकर इंटर कॉलेज पर भी छापेमारी की। जहां सुरेश कुमार यादव, मनोहर कुमार यादव और राजेश कुमार यादव को पुलिस ने गिरफ्तार किया। गौरतलब है कि सॉल्वर गैंग के लीडर नागेन्द्र सिंह भी पुलिस गिरफ्त से बच न सका।

कहां- कितने गिरफ्तार: रिपोर्ट के मुताबिक जिला पुलिस ने मुरादाबाद से चार लोग, कानपुर से तीन, प्रयागराज और आजमगढ़ से दो, वहीं आगरा और गोंडा से एक शख्स को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App