ताज़ा खबर
 

यूपी: स्कूल में टीचर ने किया 6 साल की बच्‍ची से रेप, सांप्रदायिक तनाव के बाद गांव में फोर्स तैनात

शनिवार को बड़ी संख्या में ग्रामीण स्कूल पहुंच गए और स्कूल में तोड़-फोड़ शुरु कर दी। इस दौरान स्कूल प्रबंधक नियाज हैदर और स्कूल के टीचर डरकर भाग गए।

प्रतीकात्मक तस्वीर

उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ में एक स्कूली शिक्षक द्वारा 6 साल की बच्ची के साथ बलात्कार करने का मामला सामने आया है। घटना दो संप्रदायों से जुड़ी होने के कारण इलाके में सांप्रदायिक तनाव फैल गया है। जिसके चलते प्रशासन ने भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की है। घटना आजमगढ़ के मेंहनगर इलाके के एक गांव की है। जहां नियाज हैदर का एमएन जाफरी पब्लिक स्कूल नाम से एक स्कूल है। बताया जा रहा है कि शुक्रवार को स्कूल बंद था। इसी स्कूल की कक्षा दो में पढ़ने वाली एक बच्ची दुकान से कुछ सामान लेने आयी थी। उसी समय नियाज हैदर का बेटा हैदर, जो कि स्कूल में नर्सरी के बच्चों को पढ़ाता भी है, भी वहीं खड़ा था। खबर के अनुसार, हैदर बच्ची को बहला-फुसलाकर बंद स्कूल में ले आया और वहां उसके साथ बलात्कार किया।

बाद में बच्ची के चिल्लाने पर हैदर मौके से फरार हो गया। इसके बाद बच्ची अपने घर पहुंची और अपनी मां को घटना की जानकारी दी। बच्ची की मां पुलिस थाने पहुंची और मामले की शिकायत दी। पुलिस ने हैदर को गिरफ्तारी के लिए उसके घर पहुंची तो वह फरार मिला। शनिवार को बड़ी संख्या में ग्रामीण स्कूल पहुंच गए और स्कूल में तोड़-फोड़ शुरु कर दी। इस दौरान स्कूल प्रबंधक नियाज हैदर और स्कूल के टीचर डरकर भाग गए। ग्रामीणों ने पुलिस के रवैये पर भी नाराजगी जतायी। दरअसल पुलिस ने 24 घंटे बीत जाने के बाद भी पीड़िता का मेडिकल नहीं कराया था, जिससे लोगों का गुस्सा और भड़क गया और आक्रोशित भीड़ ने मेंहनगर छतवारा मार्ग जाम कर दिया।

पुलिस ने किसी तरह समझा-बुझाकर लोगों की भीड़ को शांत कराया और जाम खुलवाया। लोग इस बात पर भी नाराज बताए जा रहे हैं कि आरोपी बालिग है। जबकि पुलिस ने आरोपी की उम्र 15 साल दर्ज की है। ऐसी खबरें भी हैं कि एक साल पहले इस स्कूल के प्रबंधक पर भी 12वीं की एक छात्रा के साथ छेड़छाड़ के आरोप लगे थे। उस दौरान पंचायत कर किसी तरह मामला सुलझा लिया गया था। लेकिन अब प्रबंधक के बेटे द्वारा बच्ची के साथ बलात्कार किए जाने से लोगों का गुस्सा भड़क उठा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App