ताज़ा खबर
 

यूपी: फिरोजाबाद में आरएसएस कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्‍या

वारदात से कुछ देर पहले वह अपने घर से खाना खाकर बाहर टहलने के लिए निकला था, तभी उसे गोली मार दी गई थी। सूचना पर एसपी सिटी सहित कई थानों का पुलिस बल मौके पर पहुंचा।

बेहद क्रूरता से इसने अपनी मंगेतर को मौत के घाट उतारा। तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

उत्तर प्रदेश में मंगलवार (तीन जुलाई) को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के एक कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई। वारदात को देर रात दो मोटरसाइकिल सवार बदमाशों ने अंजाम दिया, जिनमें से एक ने संदीप शर्मा पर गोली चलाई थी। घटना के फौरन बाद वे मौके से फरार हो गए थे। आस-पास के लोगों को जब इस बारे में खबर हुई, तो वे दंग रह गए। लहूलुहान शर्मा को इसके बाद पास के अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया गया।

पीड़ित पक्ष की शिकायत पर पुलिस मामले की जांच-पड़ताल में जुटी है। लेकिन अभी तक आरोपियों को कोई अता-पता नहीं है। आगरा जोन के आईजी राजा श्रीवास्तव ने बताया कि आरोपियों को खोजने के लिए वे लगातार दबिश दे रहे हैं। जल्द ही उन्हें धरा जाएगा, जिसके बाद ही पूरा मामला सामने आएगा।

आरएसएस कार्यकर्ता की हत्या के पीछे के कारण अभी तक स्पष्ट नहीं हो सकता है। मृतक मूल रूप से निकाऊ गांव का रहने वाला था और आरएसएस में महानगर पर्यावरण समिति का अध्यक्ष था।

वारदात से कुछ देर पहले वह अपने घर से खाना खाकर बाहर टहलने के लिए निकला था, तभी उसे गोली मार दी गई थी। सूचना पर एसपी सिटी सहित कई थानों का पुलिस बल मौके पर पहुंचा। बीजेपी और उसके सहयोगी हिंदूवादी संगठनों के लोग भी अस्पताल पहुंचे थे।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, 32 वर्षीय संघ कार्यकर्ता को जिन बदमाशों ने गोली मारी थी, वे सफेद रंग की अपाचे मोटरसाइकिल से आए थे। हमले में गोली संदीप की पीठ पर लगी थी। पुलिस इसी के साथ यह भी पता लगाने की कोशिश कर रही है कि कहीं आरएसएस कार्यकर्ता की किसी से कोई दुश्मनी तो नहीं थी।

आरएसएस नेता की हत्या के बाद स्थानीय लोगों में पुलिस के खिलाफ आक्रोश पनप गया। लोगों को समझा-बुझाकर शांत कराने के लिए कुछ नेता भी मौके पर पहुंचे, मगर वे उनका गुस्सा ठंडा करने में नाकाम रहे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App