ताज़ा खबर
 

धमकी समझिए या सुझाव, अयोध्या में कोई भी ताकत नहीं बनवा सकती मस्जिद: वेदांती

राम मंदिर मामले में राम जन्म भूमि न्यास के कार्यकारी अध्यक्ष रामविलास वेदांती का एक बयान सामने आया है। उन्होंने मंदिर वहीं बनने की बात कही है।

Author लखनऊ | July 13, 2019 8:20 AM
राम जन्म भूमि न्यास के कार्यकारी अध्यक्ष रामविलास वेदांती (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

उत्तर प्रदेश के अयोध्या से राम मंदिर पर एक नया बयान सामने आया है। बता दें कि राम जन्म भूमि न्यास के कार्यकारी अध्यक्ष रामविलास वेदांती ने मंदिर के जगह मस्जिद नहीं बनने की बात कही है। उन्होंने शुक्रवार (12 जुलाई) को कहा कि अयोध्या में जहां राम लला विराजमान हैं, वहां दुनिया की कोई भी ताकत मस्जिद नहीं बनवा सकती। बताया जा रहा है कि इनके इस नए बयान से अयोध्या मामला एक बार फिर गरमा गया है।

वेदांती-मंदिर वहीं बनेगाः कार्यकारी अध्यक्ष वेदांती ने मंदिर विवाद पर बयान देते हुए संवाददाताओं से कहा, ‘अयोध्या में जहां राम लला विराजमान हैं, वहां दुनिया की कोई भी ताकत अब मस्जिद का निर्माण नहीं करा सकती।’ इसके बाद जब उनसे यह पूछा गया कि यह धमकी है या सुझाव तो वेदांती बोले, ‘चाहे धमकी समझिए या सुझाव …. किसी कीमत पर कोई भी, जहां राम लला विराजमान हैं, वहां मस्जिद का निर्माण नहीं किया जा सकता।’ उन्होंने यह भी कहा कि कुछ कट्टरपंथी मुसलमानों को छोड़कर सभी मुसलमान भी यही चाहते हैं कि राम जन्मभूमि पर रामलला का मंदिर ही बने ।

National Hindi News, 13 July 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक 

कार्यकारी अध्यक्ष ने लगाया पाकिस्तान पर आरोपः रामविलास वेदांती ने पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए कहा कि पाकिस्तान नहीं चाहता कि हमारे देश में शांति और सांप्रदायिक सद्भाव रहे। उन्होंने कहा कि शिया वक्फ बोर्ड पहले ही इच्छा जता चुका है कि अयोध्या में मंदिर और लखनऊ के शिया बहुल इलाके में मस्जिद बनवा दी जाए। उनके अनुसार अयोध्या में जो कुछ है सब राम के नाम पर है और पूरे अयोध्या में बाबर के नाम का ना तो कोई मोहल्ला है ना गली है और ना ही कोई वार्ड है।

Bihar News Today, 13 July 2019: बिहार की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक

वेदांती का मुसलमानों को संदेशः वेदांती ने मुसलमानों को संदेश देते हुए कहा, ‘मैं सुन्नी वक्फ बोर्ड से कहना चाहता हूं कि जहां पर रामलला विराजमान हैं, वहां मंदिर का निर्माण होना चाहिए … भारत में सद्भावना शांति और सांप्रदायिक सदभाव बना रहे, इसके लिए मुसलमानों को आगे आकर कहना चाहिए कि हिंदू अपना मंदिर अयोध्या में निर्माण कराएं।’ वेदांती बड़े अफसोस पर बरसते हुए आगे बोले, ‘बड़े अफसोस की बात है कि जिस देश में बहुतायत में हिंदू हैं, वहां के लोग मंदिर बनाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में मुकदमा लड़ रहे हैं। देश के मुसलमानों को कहना चाहिए कि जो भी मंदिर तोड़ा गया है, उसे दोबारा बनना चाहिए। देश का कोई भी हिंदू यह नहीं कहता कि मक्का और मदीना में मंदिर है। देश के मुसलमानों को भी अयोध्या में मंदिर बनवाने के लिए आगे आना चाहिए।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App