ताज़ा खबर
 

UP: गोरखपुर की जेल में रेडियो स्टेशन, कैदी करेंगे संचालन; न्यूज- संगीत समेत होंगे ये खास प्रोग्राम

गोरखपुर जेल के कैदियों के लिए 25वां रेडियो स्टेशन शुरु किया गया है। इस रेडियो स्टेशन में हर रोज तीन कार्यक्रम होंगे।

Author गोरखपुर | Updated: December 1, 2019 10:22 AM
प्रतीकात्मक फोटो (सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिला जेल में अधिकारियों द्वारा एक रेडियो स्टेशन को शुरू किया गया है। यह राज्य में इस तरह का 25वां स्टेशन है। इस पर जेल अधीक्षक राम धनी ने बताया कि रेडियो स्टेशन का चलाने का काम जेल में रहने वाले कैदी खुद करेंगे। उन्होंने कहा कि यह रेडियो स्टेशन जेल के कैदियों को अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका देगा। राम धनी ने बताया कि जेल परिसर में खुशनुमा और शांतिपूर्ण माहौल सुनिश्चित करने के लिए यह कदम उठाया गया है। उन्होंने यह भी कहा कि यह कदम इसलिए उठाया गया है ताकि कारागार वास्तविक अर्थों में सुधार गृह की तरह बन जाए। अधिकारियों ने इसकी जानकारी शनिवार (30 नवंबर) को दी है।

पहले चालू की गई रेडियो स्टेशनें काफी चलेंः जिला कारागारों में रेडियो स्टेशनों के राज्य संयोजक एवं कारागार सुधारकर्ता प्रदीप रघुनंदन ने बताया कि ऐसा पहला रेडियो स्टेशन मैनपुरी जेल में शुरू किया गया था। वह रेडियो स्टेशन अच्छा चला है। इसके बाद सरकार ने राज्य की सभी जिला जिलों के लिए इसे मंजूरी दी है। इसी के तहत यहां भी यह रेडियो स्टेशन चालू किया गया है। इस रेडियो स्टेशन के चालू होने से कैदियों में उत्साह है।

Hindi News Today, 01 December 2019 LIVE Updates: देश की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

कैदियों को दी गई ट्रेनिंगः मामले में रघुनंदन ने बताया कि राज्य में इस तरह का यह 25वां रेडियो स्टेशन है। इस स्टेशन से प्रसारित होने वाले कार्यक्रम केवल जेल के कैदी सुन सकेंगे। उन्होंने कहा कि शनिवार के कार्यक्रम का चलाने का काम उन्होंने स्वयं किया था और कल से जेल के कैदी इसका संचालन खुद ही करेंगे। उन्होंने बताया कि कैदियों के एक दल को इस उद्देश्य से ट्रेनिंग भी दिया गया है। हमारे समूह में अभी कोई महिला कैदी नहीं है, लेकिन हम दो तीन महिला कैदियों से बातचीत कर रहे हैं। हमें उम्मीद है कि वे हमारे समूह का हिस्सा बनेगी।

रोज होंगे 3 कार्यक्रमः रेडियो कार्यक्रमों के बारे में जानकारी देते हुए रघुनंदन ने बताया कि कार्यक्रम एक घंटे का दोपहर 3:00 से 4:00 बजे के बीच होगा। इसमें तीन कार्यक्रम होंगे। पहला कार्यक्रम राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय समाचारों का होगा इसमें जेल के समाचार भी दिखाई जाएंगे। वहीं दूसरा कार्यक्रम 10 गीतों का होगा जो कैदियों के अनुरोध पर बजाए जाएंगे। इसके साथ तीसरा कार्यक्रम कैदियों को उनकी प्रतिभा दिखाने का होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
जस्‍ट नाउ
X