ताज़ा खबर
 

योगी आदित्‍यनाथ के प्रमुख सचिव पर 25 लाख घूस मांगने के आरोप, राज्‍यपाल ने लिखी चिट्ठी

अभिषेक गुप्ता नामक शख्स ने प्रमुख सचिव एसपी. गोयल पर 25 लाख रुपये का घूस मांगने का आरोप लगाया है। राज्यपाल राम नाईक ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर कार्रवाई का निर्देश दिया है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फोटो सोर्स- एपी)

उत्तर प्रदेश के नौकरशाहों पर लापरवाही बरतने और भ्रष्टाचार में शामिल होने के आरोप लगते रहे हैं। अब इसकी आंच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आंगन तक पहुंच चुकी है। अभिषेक गुप्ता नाम के एक शख्स ने प्रमुख सचिव एसपी. गोयल पर पेट्रोल पंप की जमीन के बदले रिश्वत मांगने का आरोप लगाया है। इस मामले में राज्यपाल राम नाईक ने सीएम योगी आदित्यनाथ को 30 अप्रैल को पत्र लिखकर शिकायतकर्ता को परेशान करने और उससे 25 लाख रुपये का घूस मांगने के मामले में कार्रवाई का निर्देश दिया था। ‘ईटीवी’ के अनुसार, शिकायतकर्ता अभिषेक गुप्ता ने ई-मेल के जरिये प्रमुख सचिव द्वारा रिश्वत मांगने की शिकायत की थी। राज्य सरकार कार्रवाई करने के बजाय अधिकारी के बचाव में उतर गई है। प्रधान सचिव (सूचना) अवनीश अवस्थी ने गोयल पर लगाए गए आरोपों को निराधार बताया है। अभिषेक का आरोप है कि घूस नहीं देने पर मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव एसपी गोयल ने जमीन देने के प्रस्ताव को निरस्त कर दिया। अभिषेक ने इसकी शिकायत राज्यपाल राम नाईक से की, जिसपर उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र भेजकर संबंधित प्रकरण पर कार्रवाई के लिए लिखा था। अभिषेक गुप्ता ने कहा कि अगर उनके साथ न्याय नहीं हुआ, तो वह आत्मदाह कर लेंगे।

क्या है मामला: मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, लखनऊ के इंदिरा नगर निवासी अभिषेक गुप्ता का कहना है कि उनके नाम पर हरदोई में एक पेट्रोल पंप का आवंटन हुआ था। इसके निर्माण में कुछ जमीन कम पड़ रही थी। इसके लिए उन्होंने डीएम हरदोई से जमीन उपलब्ध कराने की मांग की थी। शिकायतकर्ता ने बताया कि हरदोई के उपजिलाधिकारी आशीष कुमार सिंह ने रिपोर्ट भेजी थी। इसमें कहा गया था कि जिस जमीन पर अभिषेक पेट्रोल पंप खोलना चाहते हैं, वह हरदोई-लखनऊ मुख्य मार्ग पर है। लेकिन, उसकी चौड़ाई कम है, इसलिए रास्ते की सुरक्षित जमीन वह खरीदना चाहते हैं। उपजिलाधिकारी ने कहा था कि ग्रामसभा की जमीन पेट्रोल पंप के लिए अभिषेक को दी जा सकती है। अभिषेक जमीन खरीदना चाहता था, ताकि वाहनों के आने-जाने के लिए पर्याप्त रास्ता मिल सके।

आत्मदाह करने की धमकी: अभिषेक ने बताया कि पेट्रोल पंप के लिए उसने एक करोड़ रुपये का लोन ले रखा है। पेट्रोल पंप के निर्माण पर अभी तक करीब 25 लाख रुपये भी खर्च हो चुके हैं। अभिषेक ने आरोप लगाया कि प्रमुख सचिव एसपी. गोयल द्वारा उन्हें परेशान किया जा रहा है। अभिषेक का कहना है कि अगर उनके साथ न्याय नहीं हुआ, तो वह आत्मदाह कर लेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App