ताज़ा खबर
 

यूपी: पुलिस ने रुकवाई हिन्दू लड़की की मुस्लिम लड़के से शादी, दुल्हन बोली- नहीं किया धर्म परिवर्तन, घरवालों की है रजामंदी

परिवार के मुताबिक शादी की तारीख 2 महीने पहले तय की गई थी। महिला की मां का कहना है कि अगर हमें इस नए कानून की जानकारी होती तो हम पहले ही परमिशन ले लेते।

Author Edited By Nishant Nandan Updated: December 5, 2020 8:30 AM
uttar pradesh, marriageदुल्हन ने कहा कि किसी ने भी धर्म परिवर्तन हीं किया है। सांकेतिक तस्वीर।

पुलिस द्वारा लखनऊ के एक जोड़े की शादी रोके जाने के मामले में नया मोड़ आया है। मुस्लिम युवक ने कहा है कि उन दोनों में से किसी कि भी योजना धर्म परिवर्तन की नहीं थी। युवक ने कहा है कि वो दोनों एक-दूसरे को 5 साल से जानते हैं। इधर लड़की की मां ने कहा है कि इस विवाह को उनकी अनुमति थी और कोई इसे रोक नहीं सकता। दोनों परिवारों का कहना है कि नए कानून के अस्तित्व में आने से पहले 28 नवंबर को ही उनकी शादी तय हो गई थी। अगर उन्हें जानकारी होती तब वो नए कानून के तहत अनुमति जरुर लेते।

दूल्हे ने ‘Indian Express’ से बातचीत में कहा कि धर्म परिवर्तन का तो कोई सवाल ही नहीं उठता। पेशे से फार्मासिस्ट लड़के का कहना है कि ‘धर्म परिवर्तन को लेकर कोई चर्चा नहीं हुई है…क्योंकि मुझे लगता है कि अगर हम दोनों एक-दूसरे से बेइंतहा प्यार करते हैं तो हम एक-दूसरे को आसानी से कबूल कर सकते हैं…अगर वो हिंदू है मैं उसकी धर्म और पहचान को कबूल कर सकता हूं औऱ वो भी ऐसा करने के लिए तैयार है।’ यहां आपको बता दें कि बीते बुधवार को डूडा कॉलोनी में हिंदू रीति-रिवाज से हो रही एक शादी को पुलिस ने रोका था। दरअसल हिंदू संगठन राष्ट्रीय युवा वाहिनी ने इस शादी के संबंध में पुलिस के पास शिकायत की थी, हालांकि कोई केस दर्ज नहीं हुआ था।

शादी कर रहे दूल्हे की उम्र 24 और दुल्हन की उम्र 22 साल है। दोनों पड़ोसी हैं। 24 साल के लड़के का कहना है कि उन लोगों ने हिंदू और मुस्लिम दोनों ही रिवाज से शादी करने की योजना बनाई थी। दोनों में से किसी को भी धर्म परिवर्तन नहीं करना था। पुलिस का कहना है कि वो सिर्फ इतना चाहते हैं कि दूल्हा-दुल्हन नए कानून का पालन करें। उन्होंने कोई अपराध नहीं किया है। वहीं इस मामले में दुल्हन ने कहा कि ‘हम दोनों एक दूसरे को जानते हैं और एक-दूसरे को पसंद करते हैं। मैं इसे प्रेम विवाह भी नहीं कहूंगी, क्योंकि दोनों परिवार इस शादी के लिए राजी हैं। उनकी मां का देहांत हो चुका है और उनके पिता रिक्शा चलाते हैं। उन्होंने मेरी मां से एक साल पहले ही मुझसे शादी करने की इच्छा जताई थी।’

परिवार के मुताबिक शादी की तारीख 2 महीने पहले तय की गई थी। महिला की मां का कहना है कि अगर हमें इस नए कानून की जानकारी होती तो हम पहले ही परमिशन ले लेते। दुल्हन का कहना है कि अब वो प्रशासन के पास इस शादी को लेकर जरुरी कागजी कार्रवाई पूरी करेंगी और फिर लड़के से शादी करेंगी। दुल्हन का कहना है कि वो स्पेशल मैरेज एक्ट के तहत शादी के लिए तैयार है जिसमें बिना धर्म परिवर्तन किये किसी भी धर्म के लड़के से शादी रचाने की इजाजत है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सुसाइड केसः मंत्री बोले थे- दर्ज होगी कड़ी चार्जशीट, पर अर्नब गोस्वामी के खिलाफ हटा लिया गया प्रमुख आरोप
2 यूपीः धर्म परिवर्तन अध्यादेश के तहत मऊ में 14 लोगों पर केस
3 J&K DDC Election: कोकरनाग में आतंकियों ने ‘अपनी पार्टी’ के कैंडिडेट को मारी गोली, हमलावरों की तलाश जारी
ये पढ़ा क्या?
X