ताज़ा खबर
 

करोड़ों की कीमत का दोमुंहा सांप जब्त, तस्करों का दावा-सुंदरता बढ़ाने के लिए दवा बनाने में आता है काम

इस सांप की अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कीमत 3 से 25 करोड़ रुपये है। गिरफ्तार सांप के तस्करों ने बचाया कि वे 8 लाख रुपये में इस सांप को नेपाल बेचने जा रहे थे।

तस्करों का दावा है कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में ये सांप 3 से 25 करोड़ रुपये में बिकता है। (फोटो-वीडियो ग्रैब)

उत्तर प्रदेश की बहराइच पुलिस ने दुर्लभ सांपों के चार तस्करों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इनके कब्जे से सेंटबोआ नाम का एक दुर्लभ सांप तस्कर बरामद किया है। पुलिस की स्पेशल टीम ने छापेमारी कर इस ऑपरेशन को अंजाम दिया। सेंटबोआ सांप एक दुर्लभ प्रजाति का सांप है। अंतर्राष्ट्रीय तस्करी बाजार में इस सांप की कीमत करोड़ों में होती है। गिरफ्तार तस्करों ने बताया कि वे इस सांप को नेपाल बेचने ले जा रहे थे। तस्करों के मुताबिक इस सांप का वजन लगभग ढाई किलो है। इस सांप की अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कीमत 3 से 25 करोड़ रुपये है। गिरफ्तार सांप के तस्करों ने बचाया कि वे 8 लाख रुपये में इस सांप को नेपाल बेचने जा रहे थे। बहराइच के जंगलों में सांप की ये दुर्लभ प्रजाति पायी जाती है। हालांकि इस सांप की बहुत कम ही संख्या पाई जाती है। लेकिन जहरीला नहीं होने की वजह से तस्कर इसे आसानी से एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने में सक्षम हो जाते हैं।

ये सांप दक्षिण भारत के केरल, तमिलनाडु समेत कई राज्यों में पाया जाता है। इस सांप का क्या इस्तेमाल है इस बारे में अबतक स्पष्ट जानकारी नहीं मिल पायी है। लेकिन चीन, दक्षिण एशियाई देश और अरब देशों में इसकी बड़े पैमाने पर मांग है। तस्कर बताते हैं कि इस सांप का इस्तेमाल दैवीय शक्ति हासिल करने के लिए किया जाता है। कुछ लोगों का दावा है कि इन सांपों में पाया जाने वाला इरिडियम में असाध्य बीमारियों के इलाज की क्षमता होती है। जबकि खाड़ी देशों में ये मान्यता है कि इस सांप के खून का इस्तेमाल ब्यूटी प्रोडक्ट बनाने में किया जाता है।

प्राणी विज्ञानियों के मुताबिक मॉनसून के महीनों में ये सांप हाइबरनेशन यानी की सुषुप्तावस्था में पाये जाते हैं। इसलिए इनकी तस्करी आसान है। तस्करी की वजह से ये सांप अब लुप्तप्राय जीवों की श्रेणी में आ गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App