ताज़ा खबर
 

रिपोर्ट लिखनी होगी इसलिए पुलिस ने नदी में मिली लाश को बह जाने देने कहा! वायरल हुआ वीडियो

ग्रामीणों ने पुलिस को शव के बारे में जानकारी दी तो पुलिस वहां पहुंच तो गई लेकिन शव को निकालने के नदी में कूदे ग्रामीणों से यह कहने लगी कि शव को पानी में ही बहने दो ताकि शव कानपूर देहात के क्षेत्र से निकलकर कानपूर शहर की तरफ पहुंच जाए।

नदी में बहता शव। (फोटो: Video grab image)

उत्तर प्रदेश पुलिस अपनी लापरवाही को लेकर एकबार सवालों के घेरे में है। पुलिस ने एक शव नदी से सिर्फ इसलिए नहीं निकाला क्योंकि उन्हें रिपोर्ट लिखनी पड़ती। मामला कानपुर देहात के शिवली कोतवाली क्षेत्र का है। यहां एक शव पुलिस की लापरवाही से घंटों तक पानी में सड़ता रहा लेकिन पुलिसवालों ने इसकी जरा भी सुध नहीं ली।

इस घटना का एक वीडियो भी सामने आया है जो कि सोशल मीडिया पर वायरल है। वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि कुछ लोग शव को नदी से निकाल रहे हैं। इस दौरान पुलिसवाले यह कहते हुए नजर आ रहे हैं कि इस शव को मत निकालो, इसे बह जाने दो।

दरअसल जब ग्रामीणों ने पुलिस को शव के बारे में जानकारी दी तो पुलिस वहां पहुंच तो गई लेकिन शव को निकालने के नदी में कूदे ग्रामीणों से यह कहने लगी कि शव को पानी में ही बहने दो ताकि शव कानपूर देहात के क्षेत्र से निकलकर कानपूर शहर की तरफ पहुंच जाए।

पुलिस अधिकारियों के आदेश पर गांव वालों ने ऐसा ही किया। नदी से शव को निकालकर उसकी शिनाख्त करने की बजाय पुलिस ने अपना पल्ला झाड़ दिया। इसके बाद शव बहकर चौबेपुर की सीमा पर पहुंच गया लेकिन वहां सीमा विवाद को लेकर कानपुर देहात और कानपुर शहर पुलिस अधिकारियों के बीच  घंटों बहस होती रही। दोनों ही थाना क्षेत्र के अधिकारी रिपोर्ट दर्ज करने से बचते नजर आए। इस बहस की वजह से शव करीब 6 घंटे तक पड़ा रहा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App