ताज़ा खबर
 

UP पुलिस के सिपाही ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखा- DGP साहब मेरी जान बेकार न जाए

सुसाइड नोट में मृतक सिपाही ने पुलिस ड्यूटी सिस्टम को खुद की मौत का जिम्मेदार ठहराया है। नोट के अंत में उसकी मौत को व्यर्थ ना जाने देने की बात कहते हुए लिखा है कि ड्यूटी सिस्टम में सुधार कर मेरे जैसे मानसिक रूप से कमजोर हो चुके कर्मचारियों की जान बचाई जा सके।

पंकज बालियान (फोटो सोर्स: सोशल मीडिया)

उत्तर प्रदेश के अमरोहा जिले के थाना मंडी धनौरा में तैनात एक सिपाही की आत्महत्या करने की खबर है। बताया जा रहा है कि मृतक की जेब से प्रदेश पुलिस महानिदेशक (DGP) के नाम एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है। इस सुसाइड नोट में मृतक सिपाही ने पुलिस ड्यूटी सिस्टम को खुद की मौत का जिम्मेदार ठहराया है। नोट के अंत में उसकी मौत को व्यर्थ ना जाने देने की बात कहते हुए लिखा है कि ड्यूटी सिस्टम में सुधार कर मेरे जैसे मानसिक रूप से कमजोर हो चुके कर्मचारियों की जान बचाई जा सके। हालांकि मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सिपाही के पिता ने थाना प्रभारी पर उनके बेटे को प्रताड़ित करने का आरोप लगाकर एफआईआर दर्ज करने के लिए तहरीर दी है।

क्या है मामला: बताया जा रहा है कि आत्महत्या करने वाले सिपाही का नाम पंकज बालियान था जो मुजफ्फरनगर जिले का रहने वाला था। थाना प्रभारी मुकेश कुमार के मुताबिक, दो दिन पहले ही पंकज छुट्टी बिताकर ड्यूटी पर लौटा था और वह थाने के नजदीक ही एक मकान में किराए पर साथी सिपाही के साथ रहता था। पंकज की ड्यूटी रामलीला मैदान में लगी नुमाइश में थी। सोमवार देर रात वह ड्यूटी से लौटकर कमरे पर पहुंचा लेकिन सुबह देर तक उसका कमरा नहीं खुला। इसके बाद उसके साथी ने किसी तरह अंदर जाकर देखा तो पंकज का शव फांसी के फंदे पर लटका हुआ मिला। उसकी जेब से एक सुसाइड नोट भी बरामद किया गया। मामले में डीआईजी एलओ विजय भूषण ने बताया कि सुसाइड नोट का परीक्षण कराया जा है, ड्यूटी के दबाव जैसा कुछ नहीं है, जो ड्यूटी पंकज कर रहे थे वही ड्यूटी सभी कांस्टेबल करते हैं, सुसाइड में पारिवारिक एंगल का भी परीक्षण किया जा रहा है।

suicide note सुसाइड नोट

National Hindi News, 10 July 2019 LIVE Updates: पढ़ें आज की बड़ी खबरें

Bihar News Today 10 July 2019: बिहार की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

क्या लिखा है सुसाइड नोट में: पुलिस के मुताबिक कथित सुसाइड नोट यूपी डीजीपी के नाम है। जिसमें लिखा है कि वह पुलिस की ड्यूटी सिस्टम से परेशान हैं। सोशल मीडिया में वायरल होते सुसाइड नोट में लिखा है, ‘मेरी मौत का जिम्मेदार केवल ड्यूटी सिस्टम खराब होना है। इसलिए मेरी मौत का जिम्मेदार किसी अधिकारी, कर्मचारी, थाना स्टाफ, दोस्त, परिवार या लड़की को ना ठहराया जाए। नोट में आखिरी में लिखा है कि महोदय निवेदन है कि ड्यूटी सिस्टम में सुधार करें जिससे मेरे जैसे मानसिक रूप से कमजोर हो चुके कर्मचारियों की जान बचाई जा सके। साथ ही यह भी लिखा कि मेरे इस शारीरिक त्याग को बेकार नहीं जाने देना।

Next Stories
1 UP: वृंदावन में बंदरों के झुंड ने किया व्यापारी पर हमला, CCTV में कैद हुई घटना
2 गुजरात: निकाय चुनाव से पहले कांग्रेस को जबर्दस्त झटका, 8 प्रत्याशियों ने वापस लिया नामांकन
3 Delhi: बीजेपी सांसद हंसराज हंस का iPhone मैक्स चोरी, हौज काजी मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा कार्क्रम में हुई घटना
ये पढ़ा क्या?
X