ताज़ा खबर
 

अखिलेश यादव का वीडियो वायरल, मेरे बारे में ऐसा सोचा तो पिछड़ी जातियों के बारे में क्या सोचते होंगे, फिर पटक दिया माइक

अखिलेश यादव इस वीडियो में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर उन्हें 'ग्वाला और भैंस चराने वाला' कहने पर निशाना साधा रहे। यह वीडियो साल 2017 का है जब योगी आदित्यनाथ ने अखिलेश यादव और उनके पिता मुलायम सिंह यादव को लेकर विवादित टिप्पणी की थी।

yogi adityanath, CM house, UP government, उत्तर प्रदेश, समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव, संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अम्बेडकर की जयंती, Uttar Pradesh, AkhileshYadav, #Shame_On_You_AkhileshYadav, Bhim rao ambedkar, Ambedkar Jayanti, jansattaसमाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। (express file photo)

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव का एक वीडियो सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रहा है। इसमें वे यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर उन्हें ‘ग्वाला और भैंस चराने वाला’ कहने पर निशाना साधा रहे। यह वीडियो साल 2017 का है जब योगी आदित्यनाथ ने अखिलेश यादव और उनके पिता मुलायम सिंह यादव को लेकर विवादित टिप्पणी की थी।

अखिलेश इस वीडियो में मीडिया से बात करते हुए कह रहे हैं कि “ग्वाला कहा हमें, भैंस चराने वाला कहा लेकिन आपकी हैसियत नहीं की उनसे पूछ लो की वे क्या चीज़ हैं। जिसके पिता मुख्यमंत्री रहे हो, मैं खुद मुख्यमंत्री था उनका घर गंगाजल से धोगे तुम, अगर वे मेरे बारे में ऐसा सोचते हैं तो तमाम पिछड़ी जातियों के बारे में क्या सोचते होंगे ये लोग, कभी सोचो ये बात। तुम्हारे दिमाग में नहीं घुसता कुछ, तुमरे दिमाग में पैसा घुस गया है।”

यह कहने के बाद अखिलेश ने माइक को नीचे कर दिया और उठकर चले गए। दरअसल मुख्यमंत्री बनाने के बाद जब योगी आदित्यनाथ को सीएम आवास मिला था तो उन्होने गले का शुद्धिकरण कराया था। बंगले को रोली और गंगाजल से शुद्ध किया गया था। बंगले के मुख्य प्रवेश द्वार समेत समस्त दरवाजों पर रोली से स्वास्तिक और ओम के चिह्न बनाए गए थे। बाद में हवन भी हुआ था।

अखिलेश यादव का यह वीडियो उनके एक ट्वीट के बाद ट्रेंड हो रहा है। अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा कि 14 अप्रैल को संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अम्बेडकर की जयंती पर सपा दलित दीवाली मनाएगी। इसके बाद से ही सोशल मीडिया पर लोग अखिलेश यादव के खिलाफ लिखने लगे, लोगों का मानना है कि डॉ भीमराव अम्बेडकर सिर्फ दलितों के नहीं पूरे देश के हैं, लेकिन सपा प्रमुख ने सिर्फ उन्हें दलितों तक समेटकर उनका अपमान किया है।

उन्होंने ट्वीट कर कहा कि भाजपा की राजनीतिक अमावस्या के काल में संविधान खतरे में है, बाबासाहेब ने स्वतंत्र भारत को नयी रोशनी दी थी, इसलिए पार्टी डॉ. भीमराव अम्बेडकर की जयंती, 14 अप्रैल को उत्तर प्रदेश, देश व विदेश में ‘दलित दीवाली’ मनाने का आह्वान करती है।

जिसके बाद ट्विटर पर इस वक्त #Shame_On_You_AkhileshYadav ट्रेंड करने लगा। लोग अखिलेश यादव की जमकर खिचाईं कर रहे है। साथ ही अखिलेश यादव से माफी की मांग भी कर रहे है।

Next Stories
1 यूपी पंचायत चुनावः भाजपा ने रेप के दोषी कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी को दिया टिकट
2 बंगाल चुनावः दो दिन में ही चुनाव आयोग ने ममता बनर्जी को भेजा दूसरा नोटिस, कहा जवानों पर क्यों दिया विवादित बयान?
3 ईडी ने महबूबा मुफ्ती की मां को भी भेजा समन, पीडीपी बोली- साजिश है
क्लब हाउस चैट लीक:
X