ताज़ा खबर
 

यूपी के ड‍िप्‍टी सीएम बोले- महाभारत काल से हो रही पत्रकार‍िता, संजय ने क‍िया था लाइव टेलीकास्‍ट

उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश चंद्र शर्मा ने दावा किया है कि पत्रकारिता महाभारत काल से ही होती आई है।हिंदी पत्रकारिता दिवस पर बुधवार को आयोजित एक कार्यक्रम में उन्होंने पत्रकारिता की शुरुआत को लेकर पहले से प्रचलित तमाम दावों को खारिज कर दिया।

Author नई दिल्ली | May 31, 2018 4:15 PM
उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम और भाजपा नेता दिनेश शर्मा

उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश चंद्र शर्मा ने दावा किया है कि पत्रकारिता महाभारत काल से ही होती आई है।हिंदी पत्रकारिता दिवस पर बुधवार को आयोजित एक कार्यक्रम में उन्होंने पत्रकारिता की शुरुआत को लेकर पहले से प्रचलित तमाम दावों को खारिज कर दिया।उन्होंने कहा कि पत्रकारिता तो सिर्फ और सिर्फ महाभारत काल में शुरु हुई।उपमुख्यमंत्री ने अपने दावे के समर्थन में भारतीय महाकाव्यों से कई उदाहरणों का भी हवाला दिया।

उन्होंने कहा कि हस्तिनापुर में बैठे संजय ने महाभारत के युद्ध का हाल धृतराष्ट्र को सुनाया। यह लाइव टेलीकॉस्ट नहीं तो और क्या है। उपमुख्यमंत्री ने नारद की तुलना गूगल से की।उन्होंने कहा कि आपका गूगल अभी शुरू हुआ है, जबकि हमारा गूगल बहुत समय पहले ही शुरू हो गया था। नारद मुनि ज्ञान के प्रतीक थे। तीन बार नारायण-नारायण कहकर वह कहीं भी पहुंच जाते थे और संदेश देते थे।

बता देंकि हाल में बीजेपी नेताओं ने मोतियाबिंद, प्लास्टिक सर्जरी, गुरुत्वाकर्षण सिद्धांत, परमाणु परीक्षण और इंटरनेट जैसी चीजों की शुरुआत प्राचीन काल में बताई थी।त्रिपुरा के मुख्यमंत्री विप्लब देव ने महाभारत काल में इंटरनेट के आविष्कार की बात कहकर विवादों को हवा दी थी। इस बयान पर सोशल मीडिया पर लोगों ने काफी मौज भी ली थी। हालांकि आखिर तक अपने बयान पर मुख्यमंत्री विप्लब देब कायम रहे थे।

हिंदी पत्रकारिता दिवस पर दिनेश शर्मा ने कहा कि हर किसी को अपने गौरवशाली अतीत को याद रखना चाहिए। उपमुख्यमंत्री ने देश में प्रेस की आजादी की सराहना की और जोर देकर कहा कि सरकारों को मीडियाकर्मियों की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार होना चाहिए। उन्होंने मृत पत्रकारों के परिवारवालों को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से वित्तीय सहायता प्रदान करने का भी अनुरोध किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App