ताज़ा खबर
 

भारत का नागरिक हज करने जाता है तो उसकी भी पहचान होती है हिंदू, योगी बोले- हिंदू धर्म नहीं, क्यों चिढ़ते हैं?

योगी ने कहा कि अखंड भारत का कोई भी नागरिक जब हज करने या अन्य कारणों से विदेश जाता है तो उसकी पहचान "हिन्दू" के रूप में होती है। योगी ने कहा "हिन्दू, कोई धर्म नहीं एक जीवन पद्धति और संस्कृति है, जबकि सनातन धर्म है। हम सभी को अपनी पहचान पर गर्व है।"

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: February 25, 2021 11:43 AM
ogi Adityanath, Budget session of UP assembly, Budget session, SP, BSP, Yogi Adityanath in assembly, UP assembly, Lucknow news, UP news,योगी आदित्यनाथ, यूपी विधानसभा का बजट सत्र, बजट सत्र, सपा, बसपा, विधानसभा में योगी आदित्यनाथ, यूपी विधानसभा, लखनऊ न्यूज, यूपी न्यूज,Hindi News, News in Hindi,उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भारत के हर नागरिक की पहचान हिंदू के रूप में है। (express file photo)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बजट सत्र के दौरान विधानसभा में बोलते हुए कहा कि भारत के हर नागरिक की पहचान हिंदू के रूप में है। योगी ने कहा कि अखंड भारत का कोई भी नागरिक जब हज करने या अन्य कारणों से विदेश जाता है तो उसकी पहचान “हिन्दू” के रूप में होती है। योगी ने कहा “हिन्दू, कोई धर्म नहीं एक जीवन पद्धति और संस्कृति है, जबकि सनातन धर्म है। हम सभी को अपनी पहचान पर गर्व है।”

योगी ने कहा “जब भी कोई हज करने के लिए जाता है उसकी पहचान एक हिन्दू के रूप में होती है… नेता सदन योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जो लोग हिन्दू को साम्प्रदायिक कहते हैं यह वही लोग है जो अयोध्या मथुरा काशी का सम्मान नहीं करते हैं।” यूपी सीएम ने कहा “हिंदू कोई धर्म नहीं है। धर्म तो सनातन है। हिंदू शब्द से पता नहीं इतनी चिढ़ क्यों है? हिंदू को सांप्रदायिक कहते हैं। ये वही लोग हैं जो विरासत के प्रतीकों का सम्मान नहीं करते, शक्तिपीठों का सम्मान नहीं करते।

योगी ने सपा सदस्यों से कहा कि राम, कृष्ण और शंकर के बार में डॉ. लोहिया से सीखना चाहिए। यूपी के सीएम ने कहा “अयोध्या में श्रीराम मंदिर का शिलान्यास राष्ट्रीय गौरव का विषय है। पूरी दुनिया ने राम को अपनाया लेकिन कुछ लोग अब भी विद्वेष करते हैं। रामायण काल में राक्षस भी ऐसा ही करते थे।”

कांग्रेस पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि उसकी विभाजनकारी मानसिकता चिंता में डालने वाली है। इसी के चलते देश को विभाजन की त्रासदी झेलनी पड़ी। सीएम योगी ने कहा कि हम केरल को सनातन आस्था का केंद्र मानते हैं। आदि शंकराचार्य का जन्म केरल में हुआ था। उन्होंने चार पीठों की स्थापना कर सांस्कृतिक एकता का संदेश दिया। उसी केरल में कांग्रेस विभाजनकारी राजनीति कर रही है।

योगी ने कहा “लश्कर ए तोयबा के बजाय भारतीय संगठनों से खतरा बढ़ा रही है। यह कैसा राजनीतिक संस्कार है। विदेशी राजदूतों के सामने भारत के संगठनों पर सवाल खड़े करना, सेना के जवानों को हतोत्साहित करना कौन सी मानसिकता है? यह मानसिकता है जिसने राष्ट्रीय सुरक्षा पर खतरा खड़ा किया है।”

Next Stories
1 पश्चिम बंगाल में ओवैसी की रैली को नहीं मिली इजाजत, रद्द करना पड़ गया पूरा कार्यक्रम
2 दिल्ली: सरकारी स्कूलों में आठवीं तक के छात्रों को नहीं देनी होगी परीक्षा, ‘प्रोजेक्ट’ और ‘असाइनमेंट’ के आधार पर घोषित होंगे नतीजे
3 Rajasthan Budget 2021 Highlights: सीएम गहलोत ने पेश किया राज्य का पहला ‘पेपरलैस’ बजट, 5 लाख नई नौकरियां पैदा करेगी सरकार; बेरोजगारी भत्ते में 1000 रुपए की बढ़ोतरी
ये पढ़ा क्या?
X