Uttar Pradesh: Human Trafficking Racket busted in Noida Sector 18, Police took 18 Boys and Girls on Remand - पॉश इलाके में स्‍पा के नाम पर चलता था सेक्‍स रैकेट, आपत्तिजनक स्थितियों में मिले जोड़े - Jansatta
ताज़ा खबर
 

पॉश इलाके में स्‍पा के नाम पर चलता था सेक्‍स रैकेट, आपत्तिजनक स्थितियों में मिले जोड़े

मामला गौतमबुद्ध नगर जिले के नोएडा सेक्टर-18 से जुड़ा है। स्पा सेंटर में जिस वक्त छापा पड़ा था, तब लड़के-लड़कियां दंग रह गए थे। अफरा-तफरी के बीच वे खुद को बचाने के लिए इधर-उधर भाग रहे थे। लेकिन पुलिस ने उसी दौरान उनमें से 18 लोगों को अपनी गिरफ्त में ले लिया।

नोएडा सेक्टर-18 स्थित वेदांता स्पा एंड वेलनेस पर पुलिस ने बुधवार रात छापा मारा। (फोटो स्पा की साइट से लिया गया है।)

दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश के नोएडा में सेक्स रैकेट चल रहा था। पॉश इलाके में स्पा सेंटर के नाम पर जिस्मफिरोशी होती थी। बुधवार (सात मार्च) रात पुलिस ने छापा मार कर इसका पर्दाफाश किया। पुलिस को यहां आपत्तिजनक स्थितियों में कुछ जोड़े मिले। कार्रवाई के दौरान पुलिस ने कुल 18 लोगों को हिरासत में लिया है, जिसमें 6 लड़के और 12 लड़कियां शामिल हैं। पुलिस को इसी के साथ आपत्तिजनक चीजें भी मौके से मिलीं। पुलिस ने अनैतिक देह व्यापार अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया है और फिलहाल स्पा के मालिक की तलाश में जुटी है। मामला गौतमबुद्ध नगर जिले के नोएडा सेक्टर-18 से जुड़ा है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, पुलिस ने यह कार्रवाई गुप्त सूचना के आधार पर की है। स्पा सेंटर में जिस वक्त छापा पड़ा था, तब लड़के-लड़कियां दंग रह गए थे। अफरा-तफरी के बीच वे खुद को बचाने के लिए इधर-उधर भाग रहे थे। लेकिन पुलिस ने उसी दौरान उनमें से 18 लोगों को अपनी गिरफ्त में ले लिया, जिनमें कुछ आपत्तिजनक स्थिति में थे। पुलिस स्पा सेंटर के मालिक की खोजबीन में जुटी है और हिरासत में लिए गए लड़के-लड़कियों से पूछताछ की जा रही है।

कोतवाली सेक्टर 20 के प्रभारी अनिल शाही ने कहा कि सेक्स रैकेट यहां के जी-ब्लॉक में चल रहा था। ‘वेदांता स्पा एंड वेलनेस’ में मसाज के नाम पर लंबे वक्त से जिस्मफिरोशी का कारोबार चलाया जा रहा था। रोजाना यहां तकरीबन 100 से अधिक लोग आते थे। लोगों का आना सुबह नौ बजे से ही शुरू हो जाता था। रात के 11 बजे तक स्पा में लोगों की आवाजाही लगी रहती थी।

स्पा सुबह नौ बजे खुल जाता था और रात में तकरीबन 11 बजे के आसपास बंद होता था। (तस्वीर स्पा की साइट से ली गई है।)

स्पा में काम करने वाली लड़कियों को रोज के हिसाब से पैसे दिए जाते थे। ये लड़कियां कमीशन के आधार पर रखी जाती थीं। ग्राहक से जितने पैसे मिलते, उसका 23-30 फीसद हिस्सा इन्हीं लड़कियों में बांटा जाता। बाकी पैसे स्पा के मालिक के खाते में जाता था।

सीओ पीयूष सिंह का कहना है कि स्पा सेंटर के मालिक के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है, जबकि हिरासत में लिए गए आरोपियों को अदालत में पेश किया जाएगा। अब तक की जानकारी के मुताबिक स्पा का मालिक राजेश नाम का शख्स है, जबकि स्पा का काम नताशा नाम की महिला संभालती थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App