ताज़ा खबर
 

शादी करने वाले जोड़ों को यूपी सरकार देगी ‘शगुन’, गिफ्ट करेगी कंडोम और प्रेग्नेंसी टेस्ट किट

ऐसा शगुन देने के पीछे सरकार की मंशा है कि लोगों को परिवार नियोजन के प्रति और भी ज्यादा जागरुक किया जाए। सरकार ने जिन 57 जिलों को अभी इस योजना में शामिल किया है वहां जन्म दर काफी ज्यादा है। इस योजना को इलाहाबाद में भी शुरू किया गया है।

प्रतीकात्मक तस्वीर

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने राज्य में नवविवाहित जोड़ों को शगुन के तौर पर खास तोहफा देने की योजना बनाई है। सरकार ने अभी यह योजना 57 जिलों में शुरू की है। यूपी सरकार की यह नई योजना राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन द्वारा संचालित ‘नई पहल’ स्कीम का ही एक हिस्सा है।

शगुन के तौर मिलेगा यह सामान: अब स्वास्थ्य विभाग इन जिलों में नवविवाहित जोड़ों को शगुन के तौर पर कॉन्डम का पैकेट, गर्भनिरोधक दवाइयां, प्रेग्नेंसी जांच किट के अलावा रोजमर्रा के इस्तेमाल में आने वाली चीजें मसलन – कंघी, बिंदी, ऐनक, रुमाल और तौलिया बांटेगा। इस शगुन के अंदर मैरेज रजिस्ट्रेशन फॉर्म भी होगा। शगुन के इस किट के साथ स्वास्थ्य विभाग की तरफ से एक पत्र भी होगा। इस पत्र में परिवार नियोजन के फायदों के बारे में लिखा होगा। इस पत्र के जरिए नवविवाहित जोड़ों को परिवार नियोजन और जनसंख्या नियंत्रण के लिए समझाने के साथ 2 बच्चों तक ही परिवार को सीमित रखने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।

दरअसल ऐसा शगुन देने के पीछे सरकार की मंशा है कि लोगों को परिवार नियोजन के प्रति और भी ज्यादा जागरुक किया जाए। सरकार ने जिन 57 जिलों को अभी इस योजना में शामिल किया है वहां जन्म दर काफी ज्यादा है। इस योजना को इलाहाबाद में भी शुरू किया गया है। नई-नई शादी करने वाले जोड़ों तक यह शगुन पहुंचाने का जिम्मा आशा कार्यकर्ताओं को सौंपा गया है। एक खास बात यह भी है कि इस तोहफे के अंदर आशा कार्यकर्ताओं और दूसरे स्वास्थ्य कर्मचारियों का नंबर भी दिया जाएगा, ताकि किट को लेकर किसी भी तरह की अन्य जानकारियों के बारे में लोग सीधे उनसे बातचीत कर सकें।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अधिकारियों का कहना है कि इस काम के लिए आशा कार्यकर्ताओं को विशेष रूप से ट्रेनिंग देकर तैयार किया गया है। आगरा, मथुरा, गाजियाबाद, बलिया, देवरिया, आजमगढ़ जैसे जिलों में आशा कार्यकर्ता जोर-शोर से नए जोड़ों के बीच जाकर उन्हें शगुन देंगी। एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत आबादी के मामले में चीन को आने वाले 7 वर्षों में पछाड़ देगा। आंकड़ों के मुताबिक भारत की आबादी आने वाले साल 2024 के आसपास 1.44 अरब को पार कर जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App