ताज़ा खबर
 

UPSSSC ट्यूबवेल ऑपरेटर भर्ती पेपर लीक: वारदात के मास्टरमाइंड शिक्षक समेत 11 अरेस्ट, 15 लाख बरामद

UPSSSC Tubewell Operator Recruitment Paper leaked : पर्चा लीक होने के बाद यह फैसला यूपी अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (यूपीएसएसएससी) ने उठाया है। लखनऊ के जिलाधिकारी ने इस बारे में कहा है कि जल्द ही परीक्षा के लिए नई तारीख का ऐलान किया जाएगा।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

UPSSSC Tubewell Operator Exam Postponed due to Paper Leak:: उत्तर प्रदेश में ट्यूबवेल ऑपरेटर पेपर लीक मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, यूपी स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने इस मामले में कुल 11 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। सभी आरोपियों के पास से कुछ मोबाइल फोन, दस्तावेज और तकरीबन 15 लाख रुपए बरामद किए गए हैं। एडीजी मेरठ प्रशांत कुमार ने कहा, “शनिवार रात 11 लोग गिरफ्तार किए गए। वारदात का मास्टरमाइंड सचिन (शिक्षक) भी इन्हीं में शामिल है। हमें इन लोगों से कुछ पेपर और कैश बरामद हुआ है।”

आपको बता दें कि ट्यूबवेल ऑपरेटर्स (नलकूप चालक) की भर्ती परीक्षा का पेपर शनिवार (एक सितंबर) को लीक हुआ था। यह परीक्षा रविवार (दो सितंबर) को प्रस्तावित थी। मगर इसे स्थगित कर दिया गया। यह फैसला यूपी अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (यूपीएसएसएससी) ने पेपर लीक होने के बाद उठाया।

Tubewell Operators Paper Leak, Tubewell Operators Paper Out, Uttar Pradesh Subordinate Service Selection Commission, UPSSSC, Postpone, Exam, STF, 10 People, Custody, Interogation, Meerut, Lucknow, DM, UP, CM, Yogi Adityanath, State News, Hindi News

यह परीक्षा नलकूप चालक के 3210 पदों पर चयन के लिए होनी थी। परीक्षा के लिए कुल आठ जिलों में केंद्र तय किए गए थे। पेपर लीक होने की जानकारी मिलने पर यूपीएसएसएससी में खलबली मच गई, जिसके बाद परीक्षा को टालने का फैसला किया गया।

उधर, अभ्यर्थियों में पेपर लीक होने को लेकर खासा नाराजगी दिखी। कानपुर में शनिवार (एक सितंबर) रात इसी बाबत हंगामा हुआ। हुआ यूं कि सेंट्रल रेलवे स्टेशन पर कई अभ्यर्थी पेपर देने आए थे। उसी दौरान उन्हें पेपर लीक होने की जानकारी मिली। फिर क्या था, उन्होंने नारेबाजी और विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया।

परीक्षा में बैठने के लिए तकरीबन दो लाख से ज्यादा अभ्यर्थियों ने आवेदन दिया था। यूपीएसएसएससी के अध्यक्ष सी.बी.पालीवाल इस बारे में मीडिया से बोले थे, “परीक्षा निरस्त कर दी गई है। फिलहाल मामले की पड़ताल कराई जा रही है। जांच टीमें पता लगाने में जुटी हैं कि आखिर पेपर लीक हुआ कैसे। जो भी जांच में दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।”

आयोग ने परीक्षा सफलपूवर्क आयोजित कराने के लिए सभी किस्म की तैयारियां कर ली थीं। मसलन यह परीक्षा राज्य में जिन आठ केंद्रों पर होनी थी, वहां पर पर्यवेक्षक भी पहुंच चुके थे। इन केंद्रों में लखनऊ, कानपुर, इलाहाबाद, वाराणसी, गोरखपुर, आगरा और मेरठ के नाम शामिल हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App