ताज़ा खबर
 

लखीमपुर से 3 बार MLA रहे निर्वेंद्र मिश्रा की हत्या, हमले में बेटा भी जख्मी; कांग्रेस नेत्री बोलीं- क्या UP में ब्राह्मण होना पाप है?

हिंसक झड़प में पूर्व विधायक के बेटे संजीव भी बुरी तरह घायल हो गए हैं, उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है।

lakhimpur kheriहथियारों से लैस बदमाशों ने पूर्व विधायक पर हमला किया और बेटे संजीव को भी बुरी तरह घायल कर दिया। (ट्विटर)

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में तीन बार विधायक रहे निर्वेंद्र कुमार मिश्रा की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। रविवार (6 सितंबर, 2020) को जमीन विवाद को लेकर शुरू हुई इस हिंसक झड़प में पूर्व विधायक के बेटे संजीव कुमार भी बुरी तरह घायल हुए हैं। उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है।

घटना मामले में वरिष्ठ पत्रकार ब्रिजेश मिश्रा @brajeshlive ने ट्वीट कर कहा, ‘तीन बार के विधायक रहे निर्वेंद्र मिश्रा की आज लखीमपुर खीरी में हत्या कर दी गई। उनका बेटा भी जख्मी है। हमले मे निर्वेंद्र को काफी गहरी चोटें आई थीं। अस्पताल पहुंचने से पहले उनकी मौत हो गई। मिश्रा निघासन क्षेत्र से 3 बार विधायक थे। 2 बार वो निर्दलीय चुनाव जीते थे।’

घटनाक्रम पर कांग्रेस नेत्री अराधना मिश्रा @aradhanam7000 ने भी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने रविवार को ट्वीट कह कहा कि अब तो हद हो गई, एक और ब्राह्मण की हत्या। लखीमपुर में 3 बार के पूर्व विधायक निर्वेंद्र मिश्रा की हत्या कर दी गई। यूपी का जंगलराज भयावह हो रहा है। योगी सरकार सो रही है, क्या यूपी में ब्राह्मण होना पाप हैं? निर्वेंद्र कुमार मिश्रा उर्फ मुन्ना एक बार सपा के टिकट पर भी विधायक रहे हैं।

घटना जिले तहसील पलिया के त्रिकोलिया पढुआ की है। 75 वर्षीय पूर्व विधायक की हत्या के बाद स्थानीय लोगों में आक्रोश है। नाराज ग्रामीणों ने संपूर्णा नगर चौराहे पर शव रखकर प्रदर्शन भी किया। हत्या मामले सूचना मिलते ही पुलिस घटना स्थल पर पहुंची गई। मामले में एसपी सतेंद्र कुमार ने सफाई देते हुए कहा कि गिरने से पूर्व विधायक की मौत हुई है। हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट से मौत के कारणों की पुष्टि हो जाएगी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक संपूर्णानगर थाना क्षेत्र में बस अड्डे के पास मुख्य सड़क पर जमीन है। जमीन को लेकर किशन गुप्ता और पूर्व विधायक के बीच कब्जे को लेकर विवाद था। दोनों पक्षों का ये विवाद कोर्ट में भी विचारधीन है। इसी बीच रविवार को किशन गुप्ता सैकड़ों लोगों को लेकर जमीन पर कब्जा करने के लिए पहुंच गए। बताया जाता है कि इसके बाद पूर्व विधायक भी वहां पहुंच गए। इस दौरान गुप्ता पक्ष के लोगों ने पूर्व विधायक की लात-घूंसों से मारपीट की। बचाव के लिए पहुंचे पूर्व विधायक को बेटे संजीव कुमार को भी बुरी तरह पीटा गया। घटना में दोनों की हालत बिगड़ गई।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 यूपी: ‘डीएम ने भरी सभा में सीएमओ को कहा गधा, बोले- खाल खींचकर जमीन में गाड़ दूंगा’, कौन है ये अफसर?
2 दिल्ली दंगा: राहुल सोलंकी मर्डर केस में पुलिस ने मुस्तकीम सैफी को किया गिरफ्तार, हथियार भी बरामद
3 बिहार चुनाव: नीतीश के बाद पप्पू यादव ने भी खेला दलित कार्ड, बोले- इन तीन में से किसी को भी बनाओ सीएम कैंडिडेट
यह पढ़ा क्या?
X