ताज़ा खबर
 

जंतर-मंतर से उठेगी उत्तर-प्रदेश के बंटबारे की मांग

एक बार फिर उत्तर प्रदेश के बंटवारे की मांग उठने लगी है। राष्ट्रीय क्रांतिकारी समाजवादी पार्टी ने केंद्र सरकार को चेतावनी दी है कि अगर अलग पश्चिमी प्रदेश, पूर्वांचल और बुंदेलखंड राज्य बनाए जाने की मांग स्वीकार नहीं की गई तो वह प्रदेशव्यापी आंदोलन छेड़ेगी।

Author नई दिल्ली | March 5, 2016 3:44 AM

एक बार फिर उत्तर प्रदेश के बंटवारे की मांग उठने लगी है। राष्ट्रीय क्रांतिकारी समाजवादी पार्टी ने केंद्र सरकार को चेतावनी दी है कि अगर अलग पश्चिमी प्रदेश, पूर्वांचल और बुंदेलखंड राज्य बनाए जाने की मांग स्वीकार नहीं की गई तो वह प्रदेशव्यापी आंदोलन छेड़ेगी।

पार्टी के संस्थापक अध्यक्ष गोपाल राय, पश्चिम प्रदेश निर्माण मोर्चा के केंद्रीय अध्यक्ष सत्यपाल सिंह यादव एडवोकेट और महासचिव कर्नल सुधीर कुमार ने एक बैठक में यह फैसला लिया कि किसानों और मजदूरों के मसीहा स्वामी सहजानंद सरस्वती की 127वीं जयंती पर 6 मार्च को जंतर-मंतर पर संयुक्त रैली की जाएगी।

उन्होंने कहा कि प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती विधानसभा में तीनों राज्यों- पूर्वांचल, पश्चिमी प्रदेश और बुंदेलखंड के गठन के लिए प्रस्ताव पास करके चार साल पहले ही केंद्र्र सरकार को भेज चुकी हैं। अब केंद्र सरकार को कार्रवाई करनी है।
प्रदेशवासियों से इस आंदोलन में सहयोग देने की अपील करते हुए गोपाल राय ने कहा कि कहा कि बुंदेलखंड में किसान भूखे मर रहे हैं, वहीं पूर्वांचल में सभी चीनी मिलें बंद हैं। युवाओं के पास रोजगार का कोई साधन नहीं है, वे दूसरे राज्यों में पलायन करने के लिए मजबूर हैं। झारखंड, उत्तराखंड, छत्तीसगढ़ और तेलंगाना के राज्यबनने से वहां के विकास में गति आई है, बेरोजगारों को रोजगार और किसानों को उनका हक मिल रहा है।

राय ने आगे कहा कि रोजगार न मिलने से बेरोजगार युवक अपराधी बनते जा रहे हैं। चीनी मिलें बंद होने से किसानों के गन्ने खेत में ही सड़ रहे हैं। एक अरब आबादी की भूख शांत करने वाला किसान खुद भूखा मर रहा है। कार्यक्रम की बैठक की अध्यक्षता करते हुए पार्टी के कायर्वाहक राष्टÑीय अध्यक्ष रोशन लाल गुप्ता ने कहा कि कहीं किसान आत्महत्या करने को मजबूर है तो कहीं अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App