X

यूपी: कंस वध मेले की झांकी को लेकर सांप्रदायिक तनाव, पथराव और आगजनी, एसपी समेत 6 पुलिसवाले घायल

मामला बढ़ता देख पुलिस को हवाई फायरिंग करनी पड़ी। भाजपा सांसद पुष्पेंद्र सिंह चंदेल के साथ ही कई आला अधिकारियों ने भी लोगों को समझाने की बहुत कोशिश की। लेकिन इसका कोई फायदा नहीं हुआ और मंगलवार को विवाद ने हिंसा का रुप ले लिया।

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर में कंस वध मेले की झांकी निकालने को लेकर सांप्रदायिक तनाव हो गया है। जिसके परिणामस्वरुप हुई आगजनी और पत्थरबाजी में एसपी समेत 6 पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं। वहीं इस घटना के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ काफी नाराज बताए जा रहे हैं और इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उन्होंने डीजीपी ओपी सिंह और प्रमुख गृह सचिव अरविंद कुमार को तलब कर लिया है। बता दें हमीरपुर के मौदहा में कंस वध की झांकी काफी प्रसिद्ध है। इस झांकी के रास्तों को लेकर विवाद हुआ। विवाद की शुरुआत सोमवार को ही हो गई थी। दरअसल एक पक्ष ने झांकी के लिए नए रास्ते का चुनाव कर लिया था।

उल्लेखनीय है कि हर बार मौदहा में कंस वध लीली में सजने वाले भगवान कृष्ण का डोला चतुर्दशी की शाम कजियाना से मथुरा मंदिर, जीजीआईसी चौराहा, थाना चौराहा, नेशनल चौराहा एवं गुडाही बाजार होते हुए अपने निर्धारित स्थल में संपन्न होता था। नवभारत टाइम्स की खबर के अनुसार, यह झांकी कभी अलाव मैदान से नहीं निकाली गई। वहीं मेला आयोजकों का कहना है कि उनकी झांकी अलाव मैदान से निकलती रही है और इस बार भी अलाव मैदान से ही निकलेगी। इसके बाद लोगों ने झांकी सजाकर जुलूस निकालना शुरु कर दिया। इस पर इलाके के देवी चौराहा नामक जगह पर दूसरे पक्ष के लोगों ने इस पर आपत्ति जतायी। इसी बात को लेकर विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ गया कि दोनों तरफ के लोगों ने एकदूसरे पर पत्थर बरसाने शुरु कर दिए। इस पत्थरबाजी में एसपी अजय कुमार समेत 6 लोग घायल हो गए।

मामला बढ़ता देख पुलिस को हवाई फायरिंग करनी पड़ी। भाजपा सांसद पुष्पेंद्र सिंह चंदेल के साथ ही कई आला अधिकारियों ने भी लोगों को समझाने की बहुत कोशिश की। लेकिन इसका कोई फायदा नहीं हुआ और मंगलवार को विवाद ने हिंसा का रुप ले लिया। फिलहाल पुलिस ने स्थिति को संभाल लिया है और इलाके में तनावपूर्ण शांति है। मौके पर पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है और पुलिस के आला अधिकारी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं।

  • Tags: uttar pradesh,