Uttar Pradesh CM Yogi Aditya Nath Minister Om Prakash Rajbhar says every Cast leader must be annoint as CM for 6 months - यूपी: मंत्री ने खुल कर खेला जात‍ि कार्ड, छह-छह महीने के ल‍िए हर जात‍ि का बने सीएम - Jansatta
ताज़ा खबर
 

यूपी: मंत्री ने खुल कर खेला जात‍ि कार्ड, छह-छह महीने के ल‍िए हर जात‍ि का बने सीएम

उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के प्रमुख ओमप्रकाश राजभर ने सभी जातियों से जुड़े नेताओं को छह-छह महीने के लिए मुख्यमंत्री बनाने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में केशव प्रसाद मौर्य के नाम पर चुनाव लड़ा गया था, लेकिन उन्हें उपमुख्यमंत्री बना दिया गया।

उत्तर प्रदेश के मंत्री ओमप्रकाश राजभर (फोटो सोर्स- फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मंत्री विवादित बयान देने से बाज नहीं आ रहे हैं। सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के प्रमुख और यूपी के पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने एक बार फिर से चौंकाने वाला बयान दिया है। उन्होंने खुलकर जाति कार्ड खेलते हुए कहा कि छह-छह महीने के लिए हर जाति के नेताओं को मुख्यमंत्री बनना चाहिए। राजभर केशव प्रसाद मौर्य के बजाय योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री बनाए जाने के अपने बयान पर प्रतिक्रिया दे रहे थे। ओमप्रकाश राजभर ने इलाहाबाद में कहा, ‘देश में जाति आधारित राजनीति जमीनी हकीकत है। इससे इनकार नहीं किया जा सकता है। हर व्यक्ति को सत्ता में आने और मुख्यमंत्री बनने का मौका मिलना चाहिए।’ योगी आदित्यनाथ को सीएम की कुर्सी पर नहीं देखने के सवाल पर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री ने कहा कि वह सभी को देखना चाहते हैं। उनके मुताबिक, बसपा सुप्रीमो मायावती जब 6 महीने के लिए मुख्यमंत्री बन सकती हैं तो छह-छह महीनों के लिए सभी जातियों के नेताओं को मुख्यमंत्री बनाने में क्या बुरा है? उन्होंने कहा कि ऐसे में 10 लोग मुख्यमंत्री बन जाएंगे। योगी के मंत्री ने कहा कि जब उनकी पार्टी की सरकार बनेगी तो छह-छह महीने में मुख्यमंत्री बनने का मौका दिया जाएगा।

‘जातिवाद को नकारा नहीं जा सकता’: उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि राज्य में जातिवाद को नकारा नहीं जा सकता है। उन्होंने बताया कि तहसीलों में तहसीलदार मुहर लगाकर जाति प्रमाणपत्र जारी करता है। सरकारी नौकरियों में भी जाति के बारे में पूछा जाता है, ऐसे में जातिवाद से कैसे इनकार किया जा सकता है। साथ ही उन्होंने कहा कि सभी राजनीतिक दल भी जाति पूछकर ही टिकट बांटते हैं। योगी के मंत्री ने यहां तक कहा कि मंत्री भी जाति के कोटे के आधार पर बनाए जाते हैं। राजभर ने केशव प्रसाद मौर्य को मुख्यमंत्री न बनाए जाने पर एक बार फिर से सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने मौर्य को आगे कर विधानसभा का चुनाव लड़ा था। उनके समुदाय के लोगों ने उनके नाम पर पार्टी को वोट भी दिया था, लेकिन चुनाव जीतने के बाद उन्हें उपमुख्यमंत्री बनाकर सभी को साधने भर की कोशिश की गई।

मोदी के नाम पर मिला वोट: राजभर ने ‘न्यूज 18’ से बात करते हुए कहा कि देश में लोगों ने मोदी जी के नाम पर वोट दिया, कोई सांसद या मंत्री यह कैसे कह सकता है कि वो अपने दम पर जीता है। उन्होंने स्पष्ट किया कि यूपी में केशव प्रसाद मौर्य की लीडरशिप में चुनाव लड़ा गया था, इसलिए कह रहा हूं कि उन्हें सीएम बनाना चाहिए था। योगी आदित्यनाथ से तल्खी के बावजूद राजभर ने कहा कि वर्ष 2019 का चुनाव तो वह भाजपा के साथ ही मिलकर लड़ेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App