ताज़ा खबर
 

यूपी: CM योगी ने टॉपर्स को दिए थे 21-21 हजार के चेक, छात्रों ने डिपॉजिट कराया तो हो गए बाउंस

Uttar Pradesh CM Yogi: टॉपर छात्रों ने कहा कि वह चाहते हैं कि सीएम खुद इस मामले का संज्ञान लें और लापरवाहों के खिलाफ कार्रवाई करें।

Author लखनऊ | Updated: September 12, 2019 1:55 PM
सीएम योगी आदित्यनाथ फोटो सोर्स- ANI

उत्तर प्रदेश में हमीरपुर जिले के इंटरमीडिएट की परीक्षा पास करने वाले मेधावी छात्रों को राजधानी लखनऊ में एक सितंबर को सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने 21-21 हजार रुपए की चेक समेत टैबलेट, मेडल और प्रशस्त्रि पत्र देकर सम्मानित किया था। लेकिन इस मामले में एक हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है। बताया जा रहा है कि सीएम योगी ने छात्रों को जो चेक दिए  थे वह बाउंस हो गए हैं।  छात्रों और उनके परिजनों का कहना है कि सीएम इस मामले में स्वतः संज्ञान लें और लापरवाही करने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करें।

क्या है मामला: मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह मामला यूपी के हमीरपुर जिले के कस्बा राठ का है। जहां के 6 टॉपर छात्र-छात्राओं को प्रदेश की राजधानी में सीएम योगी आदित्यनाथ ने सम्मानित करते हुए 21-21 हजार रुपए के चेक दिए थे। लेकिन अगले दिन जब ये छात्र चेकों को भुनाने बैंक गए तो पता चला कि वे बाउंस हो गए हैं। एक छात्र ने बताया कि चार सितंबर को इलाहाबाद बैंक द्वारा मैसेज भेजकर चेक रिटर्न के बारे में बताया गया था। छात्र की माने तो उसके खाते में पहले तो 21 हजार रुपए जमा हुए लेकिन फिर कुछ ही देर में वापस हो गए।
National Hindi News, 12 September 2019 Top Updates LIVE: दिन भर की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

चेक बाउंस की वजह: हमीरपुर के चित्रगुप्त इंटर कॉलेज के 3 छात्र (अनिल, रीतेन्द्र व ब्रजेंद्र) सरस्वती बाल मंदिर इंटर कॉलेज के 2 छात्र (दिलीप व अंकित) और सरस्वती बालिका मंदिर स्कूल की एक छात्रा हर्षिता साहू को एक सितंबर को सीएम योगी द्वारा 21-21 हजार का चेक देकर सम्मानित किया गया था। लेकिन लोग उस वक्त हैरान रह गए जब चेक को बैंक खाते में डिपोजिट करने के बाद बाउंस होने का मैसेज आ गया। इसके बाद जब छात्रों ने बैंक जानकारी मांगी तो डीआईओएस ने उनको बताया कि  हस्ताक्षर में मिलान न होने की वजह से यह घटना हुई है।

सीएम से कार्रवाई की मांग: इस घटना से मायूस छात्रों ने स्थानीय मीडिया से कहा कि वह सीएम से कहना चाहते हैं कि मामले में वह खुद संज्ञान लें और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करें। हालांकि मामले बैंक मैनेजर ने बताया कि तकनीकी वजहों से ऐसा हुआ था, लेकिन अब उसे दूर कर लिया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Babita Phogat: राजनीति का ‘दंगल’ लड़ेंगी रेसलर बबीता फोगाट, हरियाणा चुनाव में हो सकती हैं BJP कैंडिडेट
2 संघ के दिग्गज कृष्ण गोपाल बोले- दारा शिकोह ने राज किया होता तो भारत में ज्यादा फलता-फूलता इस्लाम, अच्छे से समझ पाते हिंदू
3 Mumbai, Gujarat, MP Rains, Weather Forecast Today Updates: टोटका- पहले बारिश के लिए कराई मेंढ़कों की शादी, अब रोकने के लिए के लिए 2 महीने बाद करवाया तलाक