ताज़ा खबर
 

बिना चश्मा अखबार नहीं पढ़ पाया दूल्हा तो दुल्हन ने लौटायी बारात, फिर करवा दी FIR

उत्तर प्रदेश के औरैया गांव से शादी टूटने का एक अजीबो- गरीब मामला सामने आया है। यहां एक दूल्हन ने शादी के मंडप में दूल्हे से बिना चश्मा लगाए हिंदी का अखबार पढ़ने को कहा। जब दूल्हा ऐसा नहीं कर पाया तो लड़की ने शादी कैंसिल कर दी। मामला औरैया क्षेत्र के जमालीपुर गांव की […]

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (Source: Thinkstock Images)

उत्तर प्रदेश के औरैया गांव से शादी टूटने का एक अजीबो- गरीब मामला सामने आया है। यहां एक दूल्हन ने शादी के मंडप में दूल्हे से बिना चश्मा लगाए हिंदी का अखबार पढ़ने को कहा। जब दूल्हा ऐसा नहीं कर पाया तो लड़की ने शादी कैंसिल कर दी।

मामला औरैया क्षेत्र के जमालीपुर गांव की है। अर्जुन सिंह नाम के एक सख्श ने अपनी बेटी अर्चना की शादी शिवम नाम के एक लड़के के साथ तय की थी। द्वारचार के समय सबने दूल्हे को काला चश्मा पहने देखा तो शिवम को चश्मा उतारने के लिए कहा गया। उसने थोड़ी देर बाद चश्मा उतारा तो उसे अखबार पढ़ने के लिए दिया गया लेकिन वह उसे नहीं पढ़ सका। शादी तोड़ने के बाद लड़की के परिवार वालों ने लड़के के खिलाफ धोखा धड़ी का आरोप लगाया है और इसकी रिपोर्ट भी दर्ज कराई है।

बता दें कि दूल्हा पढ़ा-लिखा है और उसे हिंदी पढ़नी आती है, लेकिन कमजोर नजर के कारण वह बिना चश्मा पहने अखबार नहीं पढ़ पाया। इसके बाद दूल्हन ने उसके साथ शादी करने मना कर दिया।

इसके बाद पूरी रात दोनों परिवारों के परिजनों के बीच में दिए गए सामान और शादी में हुए खर्च के नुकसान की भरपाई को लेकर गहमा गहमी बनी रही। सोमवार को दोनों पक्ष से रिश्तेदारों ने भी मामला सुलझाने की कोशिश की लेकिन बात न बनने पर मंगलवार को दूल्हन के परिजनों ने पुलिस में धोखा धड़ी का मामला दर्ज कर दिया।

लड़की के पिता ने बताया कि उन्होंने शादी से पहले भी लड़के को काले चश्मे में देखा था, लेकिन उन्हें लगा कि यह चश्मा फैशन में लगाया गया है। इसलिए उन्होंने चश्मे पर सवाल नहीं उठाए। हालांकि, शादी वाले दिन पूरी सच्चाई बाहर आ गई। इसके बाद उन्होंने इस लड़के के साथ अपनी बेटी की शादी करने से मना कर दिया।

Next Stories
1 दिग्विजय ने शिवराज को बताया ‘देशद्रोही’, बोले- IT सेल चीफ करते थे ISI के लिए जासूसी
2 जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी चाहिए तो देनी होगी नेता या पार्टी से रिश्तों से लेकर पुराने फोन और गाड़ी नंबर तक की जानकारी
3 हनुमान को मार दिया जाये और राम देखते रहें, यह ठीक नहीं, प्रधानमंत्री मोदी से चिराग पासवान की गुहार
यह पढ़ा क्या?
X