ताज़ा खबर
 

यूपी: बलिया गोलीकांड के मुख्य आरोपी का समर्थन करने वाले BJP विधायक पर पार्टी अध्यक्ष ने बरसाए फूल, VIDEO वायरल

बताया जा रहा है कि स्वतंत्र देव सिंह एक भूमि-पूजन के कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे थे। वायरल वीडियो में नजर आ रहा है कि बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष पार्टी विधायक सुरेंद्र सिंह पर फूलों की बरसात कर रहे हैं।

सुरेंद्र सिंह पर फूलों की बरसात की गई। फोटो सोर्स – वीडियो स्क्रीनशॉट

उत्तर प्रदेश के बलिया में हुए गोलीकांड के मुख्य आरोपी का समर्थन करने वाले भारतीय जनता पार्टी (BJP) के विधायक सुरेंद्र सिंह पर फूल बरसा कर उनका स्वागत किया गया। अपने बयान से अक्सर विवादों में रहने वाले सुरेंद्र सिंह का स्वागत किसी और ने नहीं बल्कि यूपी बीजेपी अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने किया है। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष द्वारा सुरेंद्र सिंह पर फूल बरसाने का एक वीडियो भी वायरल हो रहा है।

बताया जा रहा है कि स्वतंत्र देव सिंह एक भूमि-पूजन के कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे थे। वायरल वीडियो में नजर आ रहा है कि बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष पार्टी विधायक सुरेंद्र सिंह पर फूलों की बरसात कर रहे हैं। मंच पर स्वतंत्र देव सिंह खड़े हैं और विधायक पर फूल फेंक रहे हैं। इसके बाद वो सुरेंद्र सिंह को धन्यवाद देते हुए भी नजर आ रहे हैं।

आपको बता दें कि बलिया में धीरेंद्र प्रताप सिंह नाम के एक बीजेपी नेता पर पुलिस के सामने एक युवक की हत्या करने का आरोप लगा था। 46 साल के युवक की हत्या का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इस हत्या के बाद धीरेंद्र सिंह फरार हो गया था। इसके बाद कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया था कि धीरेंद्र, बलिया विधायक सुरेंद्र सिंह का करीबी है।

इसको लेकर सुरेंद्र सिंह कई बार बयान भी दे चुके हैं। इस गोलीकांड के बाद सुरेंद्र सिंह ने कहा था कि ‘ हत्या के आरोपी धीरेंद्र ने आत्मरक्षा में गोली चलाई थी। क्षत्रियों की रक्षा के लिए वह राजनीति छोड़ने को भी तैयार हैं..उसके पक्ष से भी 7 लोग गंभीर रूप से घायल हैं। उसकी ओर से रिपोर्ट क्यों नहीं दर्ज की जा रही है। अगर जल्द रिपोर्ट दर्ज नहीं होती है तो वह आमरण अनशन करेंगे।।’

आरोपी के समर्थन में दिये गये उनके बयान के बाद भाजपा की प्रदेश ईकाई ने उनको नोटिस जारी कर जवाब मांगा था और लखनऊ भी उन्हें तलब किया गया था। कई मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया कि शीर्ष नेतृत्व ने सुरेंद्र सिंह को सख्त हिदायत भी दी थी कि वो इस मामले में किसी तरह की दखलअंदाजी या दबाव ना बनाएं।

बता दें कि दुर्जनपुर में 15 अक्टूबर को पंचायत भवन पर कोटे की दुकान को लेकर बैठक चल रही थी। एसडीएम बैरिया सुरेश पाल, सीओ चंद्रकेश सिंह, बीडीओ गजेंद्र प्रताप सिंह और रेवती थाने का पुलिसबल भी मौजूद थी। आरोप है कि इसी दौरान विवाद होने पर धीरेंद्र सिंह ने जयप्रकाश पाल की हत्या कर दी। इसके बाद वह भाग निकला।

Next Stories
1 महाराष्ट्र: वित्त मंत्रालय संभालने के दौरान जमीन कब्जाने का लगा था आरोप, जानिए कौन हैं बीजेपी का साथ छोड़ NCP में शामिल हुए एकनाथ खड्से
ये पढ़ा क्या?
X