ताज़ा खबर
 

सोनभद्र हत्याकांड: SDM, सीओ और दरोगा समेत 5 निलंबित, CM योगी बोले- दोषियों को नहीं छोड़ेंगे

सीएम योगी ने कहा कि इस हत्याकांड में शामिल दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। घोरावल में तैनात रहे एसडीएम, क्षेत्राधिकारी और निरीक्षक को जांच समिति की रिपोर्ट के आधार पर निलंबित कर दिया गया है। बीट सब इंस्पेक्टर और कांस्टेबल को भी निलंबित किया गया है।

Author सोनभद्र | July 19, 2019 11:48 PM
सोनभद्र हत्याकांड में पुलिस की जांच जारी फोटो सोर्स- फाईनेंसियल एक्सप्रेस

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र हत्याकांड के मामले में योगी सरकार ने कड़ी कार्रवाई करते हुए इलाके के उपजिलाधिकारी (एसडीएम) विजय प्रकाश तिवारी के को निलंबित कर दिया है। उनके खिलाफ अब विभागीय जांच चलेगी। इसके साथ ही सीओ घोरावल, एसएचओ घोरावल, वह दो सब इंस्पेक्टर को दोषी माना गया हैं। बता दें कि योगी सरकार ने घटना के बाद ही जांच के लिए दो सदस्यीय कमेटी बनाई थी, जिसके रिपोर्ट अब सामने आई है। मामले में बोलते हुए सीएम योगी ने कहा कि इस हत्याकांड में शामिल दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।

गौरतलब हत्याकांड के सुर्खियों में आने पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने न्याय का वादा किया और कहा कि घोरावल में तैनात रहे एसडीएम, क्षेत्राधिकारी और निरीक्षक को जांच समिति की रिपोर्ट के आधार पर निलंबित कर दिया गया है। बीट सब इंस्पेक्टर और कांस्टेबल को भी निलंबित किया गया है। आदित्यनाथ ने सदन में दिये गए बयान में कहा कि इसके अलावा ग्राम प्रधान यज्ञ दत्त और उसके भाई समेत 29 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। अतिरिक्त मुख्य सचिव (राजस्व) के नेतृत्व में एक समिति भी गठित की गई है जो 10 दिनों के अंदर अपनी रिपोर्ट देगी।

बता दें कि सोनभद्र के घोरावल इलाके में बुधवार को ग्राम प्रधान और गोंड आदिवासियों के बीच जमीन के विवाद में हुए संघर्ष में 10 लोगों की हत्या हो गई थी जबकि 18 अन्य घायल हो गए थे। दत्त के समर्थकों ने कथित रूप से आदिवासियों पर फायरिंग की थी। इस मामले के बाद प्रदेश से लेकर दिल्ली तक की सियासत गर्म है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका सोनभद्र गोलीकांड में घायल हुए लोगों से मिलने के लिए वाराणसी के एक अस्पताल पहुंचीं और इसके बाद यहां से करीब 80 किलोमीटर दूर सोनभद्र के लिये रवाना हुईं। लेकिन उन्हें वाराणसी-मिर्जापुर सीमा पर ही रोक दिया गया। जिसके बाद वह धरने पर बैठ गईं, जिसके चलते पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App