ताज़ा खबर
 

गोशाला में करंट लगने से 11 गायों की मौत

जनपद के थाना कोतवाली नगर क्षेत्र के जीटी रोड मंडी समिति के पास स्थित गोपाल गोशाला में करंट लगने से बुधवार की रात को 11 गायों की मौत हो गई। आरोप है कि गोशाला प्रशासन ने गायों को मिट्टी में दबाने के लिए जेसीबी से समीप ही गड्ढा खुदवाया। स्थानीय लोगों ने गायों की मौत की शिकायत पुलिस से कर दी।

Author एटा | November 9, 2018 6:26 AM
प्रतीकात्मक फोटो।

जनपद के थाना कोतवाली नगर क्षेत्र के जीटी रोड मंडी समिति के पास स्थित गोपाल गोशाला में करंट लगने से बुधवार की रात को 11 गायों की मौत हो गई। आरोप है कि गोशाला प्रशासन ने गायों को मिट्टी में दबाने के लिए जेसीबी से समीप ही गड्ढा खुदवाया। स्थानीय लोगों ने गायों की मौत की शिकायत पुलिस से कर दी। बाद में पुलिस के अधिकारियों ने गायों का अंतिम संस्कार कराया। गोपाल गोशाला के मुनीम नंदकिशोर गुप्ता ने बताया कि दीपावली पर गोशाला को रोशन करने के लिए छत पर रखी पानी की टंकी पर भी बिजली की झालर लगाई गई। बताया जाता है कि गायों को पानी पिलाने के लिए ‘सबमरसिबल’ चलाया गया लेकिन गोशाल के कर्मचारी इसे बंद करना भूल गए। इससे कुछ देर बाद टंकी से पानी बाहर गिरने लगा। यह पानी बहकर बिजली की झालर के संपर्क में आ गया और पानी के साथ गोशाला में करंट फैल गया। इससे गोशाला में लोहे के गेट के पास बैठी गायों को करंट लग गया। करंट लगने से नौ गायों और दो सांडों की मौत हो गई। स्थानीय लोगों के मुताबिक गोशाला प्रबंधन ने आनन-फानन में जेसीबी बुलाकर गोशाला के पास ही बड़ा गड्ढा खुदवा कर गायों को मिट्टी में दबाने की योजना बनाई।

उस समय लोगों की भीड़ लग गई। किसी ने पुलिस को सूचना दे दी। पुलिस ने गायों को मिट्टी में दबाए जाने को रुकवाया। पुलिस ने वरिष्ठ अधिकारियों को सूचित किया। पुलिस ने वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर मृतक गायों का घटनास्थल पर ही पोस्टमार्टम करा कर अंतिम संस्कार कराया गया। प्रभारी निरीक्षक कोतवाली ने मृतक गायों पर शाले उड़ार्इं और नमक की कई बोरियां गड्ढे में डलवार्इं। गोपाल गोशाला के मुनीम गुप्ता ने बताया कि उन्होंने 11 गायों के मरी होने की खबर गोशाला के प्रबंधक सतीश चंद गुप्ता को दी और उन्हीं के निर्देश पर गड्ढा खुदवा कर गायों का अंतिम संस्कार करा रहा था। हालांकि घटनास्थल पर गोशाला के प्रबंधक कहीं नजर नहीं आए। प्रभारी निरीक्षक कोतवाली नगर पंकज मिश्रा ने बताया कि गायों की मौत के कारणों का पता लगाया जा रहा है। यह जांच भी की जा रही है कि इसका दोषी कौन है। पोस्टमार्टम की रपट आने के बाद ही गायों की मौत की असलियत पता चल सकेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App