ताज़ा खबर
 

यूपी: गर्लफ्रेंड के कहने पर 10वीं के स्टूडेंट ने किया लड़की के पिता का मर्डर, मीडिया से बोला- करता था टॉर्चर

आरोपी छात्र लड़की को करीब एक साल से जानता था। वह 10वीं कक्षा में लड़की के साथ ट्यूशन में पढ़ता था। 12वीं में आया तो उसकी फेसबुक पर लड़की से बात हुई। यहां तक कि उन दोनों के बीच में आगे चल कर शादी करने की योजना भी बन चुकी थी। लड़की के पिता की हत्या बंदूक से की गई थी। आरोपी छात्र के अनुसार, हत्या में इस्तेमाल किया गया हथियार प्रेमिका ने ही उसे मुहैया कराया था।

चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है।

उत्तर प्रदेश में एक छात्र ने अपनी प्रेमिका के पिता की हत्या कर दी। वारदात को अंजाम देने के लिए लड़की ने छात्र पर दबाव बनाया था। कारण- पिता बेटियों को टॉर्चर करता था। वह इसके साथ ही दोनों के प्यार में रोड़ा बन रहा था। पुलिस ने छात्र को गिरफ्तार कर लिया है, जो 10वीं कक्षा में पढ़ता है। यह मामला शामली का है। पुलिस पूछताछ में छात्र ने कबूला कि हत्या उसने प्रेमिका के कहने पर की थी। प्रेमिका ने इसके लिए उस पर दबाव बनाया था। उसका पिता उसे और उसकी बहनों को मारता-पीटता था।

आरोपी छात्र लड़की को करीब एक साल से जानता था। वह 10वीं कक्षा में लड़की के साथ ट्यूशन में पढ़ता था। 12वीं में आया तो उसकी फेसबुक पर लड़की से बात हुई। यहां तक कि उन दोनों के बीच में आगे चल कर शादी करने की योजना भी बन चुकी थी। लड़की के पिता की हत्या बंदूक से की गई थी। आरोपी छात्र के अनुसार, हत्या में इस्तेमाल किया गया हथियार प्रेमिका ने ही उसे मुहैया कराया था।

पुलिस के अनुसार, मृतक की पहचान राकेश के रूप में हुई है। वह दिल्ली से आता-जाता था। ट्रेन से उतर कर एक दिन घर जा रहा था, तभी रात के वक्त उसकी हत्या कर दी गई थी। हत्या का खुलासा पास में लगे सीसीटीवी कैमरों के जरिए हुआ था। फुटेज में लड़कों की तस्वीर नजर आई थी, जो राकेश का पीछा कर रहे थे।

पुलिस ने उन दोनों की पहचान कराई गई, जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार किया जा सका। लड़कों से पूछताछ के दौरान सामने आया कि 10वीं में पढ़ने वाले एक आरोपी के संबंध मृतक राकेश की छोटी बेटी से थे। उसे अपनी बेटी और लड़के के संबंधों के बारे में भनक लग चुकी थी। ऐसे में वह बेटी को उससे दूर रहने के लिए कहता था। वह दोनों की शादी की बात पर भी ऐतराज जताता था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App