ताज़ा खबर
 

UPSC Civil Services Result 2018: टॉपर्स ने तैयारी के दौरान किया था सोशल मीडिया का बायकॉट

टॉपर्स ने बताया कि यूपीएससी की तैयारी के दौरान उन्होंने सोशल मीडिया का बायकॉट किया था। पढ़ाई में बाधा नहीं हो और लक्ष्य की प्राप्ति के लिए उन लोगों ने यह कदम उठाया था।

यूपीएससी टॉपर्स (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) का रिजल्ट घोषित हो चुकी है। इसमें राजस्थान के कनिष्क कटारिया ने टॉप किया। ऐसे में यूपीएससी के अलावा इंजीनियरिंग व आईआईटी के टॉपर्स से बात की गई और उनकी सफलता का मूल मंत्र पूछा गया। उन्होंने बताया कि तैयारी के दौरान उन्होंने सोशल मीडिया को पूरी तरह त्याग दिया था। वहीं, कुछ ने उस दौरान अपना सोशल मीडिया अकाउंट बंद ही कर दिया था तो कुछ टॉपर्स ने इसे समय बर्बाद करने की चीज करार दिया।

टॉपर्स के पास नहीं थे स्मार्टफोन: यूपीएससी परीक्षा 2018 में अव्वल रहने वाले जयपुर के कनिष्क कटारिया ने सोशल मीडिया को समय की बर्बादी बताया। उन्होंने कहा कि उन्होंने परीक्षा की तैयारी के दौरान अपना फेसबुक और ट्विटर अकाउंट डिएक्टिवेट कर दिया था। उस दौरान वे सिर्फ इंस्टाग्राम पर रहे, जिससे वे अपने खास लोगों से जु़ड़े रहते थे। बता दें कि यूपीएससी में चौथी रैंक लाने वाले राजस्थान के श्रेयांस कुमार, भोपाल (रैंक 5) से सृष्टि जयंत देशमुख और बिलासपुर के वरनीत नेगी (रैंक 13) ने भी खुद को सोशल मीडिया से दूर रखा। वहीं, कर्नाटक के हुबली से ऑल इंडिया रैंक में 17वां स्थान प्राप्त करने वाले राहुल शरणप्पा संकानूर के पास भी स्मार्टफोन नहीं था। उन्होंने एग्जाम देने के बाद स्मार्टफोन इस्तेमाल कर रहे हैं। 26 वर्षीय आईपीएस अधिकारी तन्मय वशिष्ठ शर्मा (10वीं रैंक) ने बताया कि वे ट्विटर नहीं, लेकिन खबर पढ़ने के लिए फेसबुक का प्रयोग करते थे। वे राज्यसभा की कार्यवाही को यूट्यूब पर देखते थे। जयपुर के अक्षत जैन बताते हैं कि एग्जाम टाइम में उन्होंने सिर्फ वॉट्सऐप का इस्तेमाल किया और मूड फ्रेश करने के लिए 5 मिनट तक फेसबुक चलाते थे।

National Hindi News, 14 April 2019 LIVE Updates:पढ़ें आज की बड़ी खबरें

 

हर वर्ग के बच्चों ने पास किया एग्जाम: यूपीएससी परीक्षा 2018 में पास हुए 50 में से 27 इंजीनियर हैं, जिनमें आईआईटी (आईआईटी-मुंबई से पांच) और साथ ही बिट्स-पिलानी और एनआईटी-सुरथकल के ग्रैजुएट हैं। वहीं, इस बार परीक्षा में MBA के छात्रों की कमी नजर आई है। यूपीएससी की परीक्षा में प्राइवेट जॉब छोड़ कई लोग परीक्षा में सफल रहे हैं। इनमें दक्षिण कोरियाई कंपनी सैमसंग में काम करके छोड़ चुके कनिष्क कटारिया, अर्नस्ट एंड यंग में काम कर चुके कुमट और प्राइस वॉटरहाउस कूपर्स से पूज्य प्रियदर्शनी (रैंक 11) भी शामिल हैं। इस बार की परीक्षा में समाज के पिछड़े हिस्से के लोगों ने भी कामयाबी हासिल की है, जिनमें एएमयू के जुनैद अहमद और केरल की श्री लक्ष्मी आर अन्य मुख्य टॉपर हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App