ताज़ा खबर
 

UP डिटेंशन सेंटर का विरोध: बैकफुट पर योगी आदित्य नाथ सरकार, नहीं बनेगा गाजियाबाद में

बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती समेत अन्य विपक्षी नेताओं ने इस फैसले का विरोध किया है। जिसके बाद ऐसा मान जा रहा है कि सरकार इसे चालू नहीं करेगी।

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: September 18, 2020 3:22 PM
Ghaziabad detention centre, Ghaziabad detention centre for illegal foreigners, UP illegal foreigners, UP first detention centre, ghaziabad newsयूपी के गाजियाबाद में छात्रावासों को डिटेंशन सेंटर में बदला जा रहा है।

अवैध विदेशियों के लिए उत्तर प्रदेश का पहला डिटेंशन सेंटर गाजियाबाद में स्थापित किया गया है और इसके अगले महीने तक चालू होने की संभावना है। जिला अधिकारियों के अनुसार, नंदग्राम में एक छात्र छात्रावास को सरकारी अधिकारियों ने वीजा मानदंडों का उल्लंघन करने वालों के लिए एक खुली जेल में बदल दिया गया है। लेकिन अभी से विरोध होने लगा है।

बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती समेत अन्य विपक्षी नेताओं ने इस फैसले का विरोध किया है। जिसके बाद ऐसा मान जा रहा है कि सरकार इसे चालू नहीं करेगी। मायावती ने इसका विरोध करते हुए ट्वीट किया था। बीएसपी प्रमुख ने लिखा ‘गाजियाबाद में बीएसपी सरकार द्वारा निर्मित बहुमंजिला डॉ. अंबेडकर एससी/एसटी छात्र हॉस्टल को ‘अवैध विदेशियों’ के लिए यूपी के पहले डिटेंशन सेंटर के रूप में कन्वर्ट करना अति-दुःखद व अति-निन्दनीय। यह सरकार की दलित-विरोधी कार्यशैली का एक और प्रमाण। सरकार इसे वापस ले बीएसपी की यह मांग है। ‘

गाजियाबाद जिला कल्याण अधिकारी संजय व्यास ने बताया ” कई साल पहले डिटेंशन सेंटर के निर्माण के लिए छात्रावासों की संपत्ति प्रशासन को सौंप दी गई थी। उन सभी लोगों को, जिन्हें अवैध विदेशी घोषित किया जाएगा उन्हें यहां रखा जाएगा। हॉस्टल के अंदर निर्माण पूरा हो गया है और सुविधाओं का ध्यान रखा गया है। बाहरी हिस्से में कुछ काम अभी भी चल रहा है।

SC/ST छात्रों के लिए डॉ अंबेडकर छात्रावास का निर्माण 2010-11 में मायावती के कार्यकाल में किया गया था। छात्रावास राजकीय इंटर कॉलेज के पीछे, दिल्ली-मेरठ राजमार्ग के करीब स्थित है। प्रारंभ में, पश्चिमी यूपी और आसपास के क्षेत्रों के छात्र यहां रहते थे। लेकिन पिछले कुछ सालों से यह खाली पड़ा हुआ है।

प्रवेश द्वार पर परिसर में एक स्टील गेट है, जिसमें एक अलग वॉक-इन एंट्री है। मुख्य छात्रावास परिसर की चारदीवारी में बार्बेड वायर्स लगा दिये गए हैं। मुख्य भवन के प्रवेश द्वार पर एक चैनल गेट बनाया गया है। परिसर के दोनों प्रवेश द्वारों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Delhi Riots 2020 में ‘बर्बाद हुए’ 3200 परिवारों ने मांगा मुआवजा, पर 900 के आवेदन खारिज, जिसका हुआ 3 लाख का नुकसान उसे मिले सिर्फ 750 रुपए
2 Bihar Elections 2020: चिराग के लिए मुश्किल खड़ी कर सकते हैं नीतीश! JDU की चाहत- LJP को अपने कोटे से सीटें दे BJP, हमें मिले 115
3 महाराष्ट्र: टोल प्लाजा पर विधायक से मांगा आईडी कार्ड फिर करने लगे हाथापाई, 6 के खिलाफ मामला दर्ज
IPL 2020 LIVE
X